Modi

अपने भारत मिशन पर पोम्पिओ काफी उत्साहित हैं और उन्होंने कहा कि उनका वास्तव में मानना है कि दोनों देशों के पास अपने लोगों, हिंद-प्रशांत क्षेत्र और दुनिया की भलाई के लिए एक साथ आगे बढ़ने का अद्वितीय मौका है।

राष्ट्रपति शी जिनपिंग के 28-29 जून को ओसाका में शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए जाने से पहले चीन के सहायक विदेश मंत्री झांग जुन ने सोमवार को कहा कि जिनपिंग, भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ बैठक से इतर मुलाकात करेंगे।

अमेरिका के प्रभावशाली सांसद जोश हार्डर ने विदेश मंत्री माइक पोम्पियो से अपनी भारत यात्रा के दौरान बादाम पर शुल्क वृद्धि का मुद्दा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के समक्ष बैठक में उठाने को कहा है। बता दें कि माइक पोम्पियो अगले हफ्ते भारत की यात्रा पर आ रहे हैं।

केजरीवाल के इस प्रस्ताव पर पूर्व मेट्रो प्रमुख और मेट्रो मैन कहे जाने वाले ई श्रीधरन ने कहा है कि दिल्ली सरकार का महिलाओं को मेट्रो में मुफ्त सेवा देना चुनावी हथकंडा है।

पत्र में भारत की तरफ से ये भी जोर दिया गया है कि, भारत अपने सभी पड़ोसी देशों के साथ बेहतर संबंध चाहता है। क्षेत्र में विकास के लिए शांति और स्थिरता जरूरी है।

सनी देओल पहली बार चुनाव मैदान में उतरे हैं, उन्होंने गुरदासपुर की सीट से कांग्रेस के सुनील कुमार जाखड़ को 82459 वोटों से हराया था। 2019 के लोकसभा चुनाव में सनी देओल को 551177 वोट और सुनील कुमार जाखड़ को 474168 वोट मिले थे।

श्रम एवं रोजगार मंत्रालय, उच्च शिक्षा विभाग, स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग, दिव्यांग सशक्तिकरण विभाग भी शीर्ष पांच में रहे। छात्रवृत्ति पाने वाले शीर्ष पांच राज्यों में पश्चिम बंगाल, कर्नाटक, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र और केरल रहे। 

दिल्ली मेट्रो के पहले प्रबंध निदेशक ई श्रीधरन ने केजरीवाल द्वारा दिल्ली मेट्रो में महिलाओं को मुफ़्त यात्रा की सुविधा देने को मेट्रो के लिए ठीक नहीं बताया है।

राउत ने कहा कि लोकसभा चुनाव में एनडीए को बड़ी जीत मिली है जो कि रामलला के आशीर्वाद से ही संभव हो पाई है। अब उद्घव ठाकरे कर्ज चुकाने के लिए अपने सभी सांसदों सहित रामलला के दर्शन करने आ रहे हैं।

जिस तरीके नीतीश कुमार ने अपनी राजनीतिक चाल बदली है उसको देखते हुए माना जा रहा है कि ये बिहार में अगले विधानसभा चुनाव की तैयारियों का संकेत है। दरअसल भाजपा के कुछ फोकस मुद्दे ऐसे हैं जिसमें जेडीयू का रुख बीजेपी से अलग रहा है।