Modi govt

अनुच्छेद 370, राम मंदिर और नागरिकता संशोधन विधेयक (सीएबी) जैसे अहम पड़ाव पार कर चुकी मोदी सरकार का अगला कदम हो सकता है जनसंख्या नियंत्रण कानून और समान नागरिक संहिता (कॉमन सिविल कोड) यानी सीसीसी को लागू करना।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने गुरुवार देर रात नागरिकता (संशोधन) विधेयक, 2019 को मंजूरी दे दी। इससे यह पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान में धार्मिक उत्पीड़न का सामना करने वाले गैर-मुस्लिम अल्पसंख्यक प्रवासियों को भारतीय नागरिकता प्रदान करने वाला एक अधिनियम बन गया है।

भारतीय संसद द्वारा मंजूर नागरिकता संशोधन विधेयक (सीएबी) की आड़ में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने एक बार फिर भारत के खिलाफ राग अलापा है। उन्होंने कहा है कि नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत 'हिंदू वर्चस्ववाद एजेंडा' (हिंदू सुपरमेसिस्ट एजेंडा) की तरफ बढ़ रहा है।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने जीडीपी आंकड़ों को लेकर शनिवार को केंद्र सरकार पर हमला बोला। प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर लिखा कि अच्छे दिन आएंगे। बता दें कि इससे पहले भी कई मुद्दों को लेकर वह केंद्र सरकार की आलोचना करती रही हैं।

मोदी सरकार शिक्षा और परीक्षा में बड़ा बदलाव करने जा रही है। अब पढ़ाई बोझ नहीं रह जाएगी बल्कि पढ़ाई का सीधा ताल्लुक रोजगार से होगा। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने 10वीं और 12वीं के परीक्षा पैटर्न में बदलाव करने का निर्णय किया है।

अमेरिकी प्रतिनिधि सभा के सदस्‍य पीट ओल्‍सन ने अनुच्‍छेद 370 के महत्‍वपूर्ण प्रावधानों को निरस्‍त करने के भारत सरकार के फैसले की सराहना करते हुए कहा कि इस कदम से क्षेत्र में शांति व समानता स्‍थापित करने में मदद मिलेगी।

संसद का शीतकालीन सत्र सोमवार से शुरू हो रहा है, जिसे लेकर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदंबरम ने अपने पार्टी के नेताओं से कहा है कि वे अर्थव्यवस्था के कुप्रबंधन को लेकर नरेंद्र मोदी सरकार को बेनकाब करें।

अयोध्या राम मंदिर और बाबरी मस्जिद विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के फाइनल फैसले के बाद सरकार का अगला एजेंडा कॉमन सिविल कोड हो सकता है। जिसके संकेत आज केंद्रीय रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने दिए हैं। आपको बताते चलें कि भाजपा नेता और समर्थक अब समान नागरिक संहिता की बात भी करने लगे हैं।

ब्रिटेन में जन्मे आतिश अली तासीर पर आरोप है कि उन्‍होंने पिता के पाकिस्तानी मूल के होने की जानकारी छुपाई थी। बता दें कि लोकसभा चुनाव से पहले तासीर ने टाइम मैगजीन में प्रधानमंत्री मोदी पर आर्टिकल लिखते हुए उन्हें 'डिवाइडर इन चीफ' कहा था।

एक तरफ जहां आर्थिक मंदी को लेकर कांग्रेस केंद्र सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन शुरू करने वाली है वहीं कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और वायनाड से सांसद राहुल गांधी विदेश दौरे के लिए रवाना हो गए हैं। राहुल गांधी सोमवार को विदेश यात्रा पर चले गए हैं।