Modi

पाक सांसद ने कहा, 'मैं शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मिलूंगा। मैं निश्चित रूप से प्रधानमंत्री मोदी से शांति की दिशा में आगे बढ़ने का अनुरोध करूंगा क्योंकि पाकिस्तान सरकार भी शांति और प्रगति चाहती है।'

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह आज उत्तर प्रदेश के दौरे पर हैं। पहले वह राजधानी लखनऊ में डॉ. राममनोहर लोहिया राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय के सभागार में सहकारिता विभाग के एक कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे।

पाकिस्तान सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि प्रधानमंत्री इमरान खान की अध्यक्षता में इस कार्रवाई को किया गया है। इसको लेकर गुरुवार को राष्ट्रीय सुरक्षा समिति की बैठक हुई, जिसमें ये निर्णय लिया गया।

मनीष तिवारी ने कहा, "क्या वह (प्रधानमंत्री) 3.10 बजे से 5.30 बजे के बीच हमले से अंजान थे? या तो उनके कार्यालय द्वारा उन्हें सूचित नहीं किया गया था या उनसे संपर्क असंभव था। इसे सत्ता के शीर्ष पर संवाद की हालत का अंदाजा लगाया जा सकता है।"

आप प्रमुख ने कहा, "प्रधानमंत्री बनने से पहले मोदी जी ने दिल्ली को पूर्ण राज्य देने का मुद्दा उठाया था। अब वह प्रधानमंत्री है। दिल्ली के लोग उन्हें उनके वादे की याद दिलाना चाहते हैं।"

भारत के साथ संबंधों पर प्रिंस ने कहा, "भारत के साथ हमार रिश्ता हजारों साल पुराना है, बल्कि इतिहास से भी पुराना है। पिछले 50 सालों में इन रिश्तों में काफी सुधार और गर्माहट आई है। हर क्षेत्र में हम दोनों देशों के हित एक जैसे हैं, और हमारे पास एकसाथ आगे बढ़ने के कई अवसर हैं।"

बीजेपी के दिल्ली प्रवक्ता ने तो सिद्धू को पहनने के लिए पायल भी भेज दी और कहा कि सिद्धू जी आपके लिए पायल भेजी है उपहार में, पहन के अपने यार दिलदार इमरान खान की धुन पर नाचिए

दलबीर कौर कह रही हैं कि "सिद्धू ने पाकिस्तान में जाकर पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए और पाकिस्तान हमारे बच्चों को मार रहा है, शर्म आनी चाहिए, सिद्धू को जवाब देना होगा।"

अमेरिका ने पाकिस्तान को आगाह करते हुए कहा कि वह सभी आतंकवादी समूहों को समर्थन और पनाह देना तुरंत बंद करे। बता दें कि पुलवामा में हुए फिदायीन हमले की जिम्मेदारी जैश ए मोहम्मद ने ली है जोकि पाकिस्तान से संचालित होता है।

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में मौजूद प्रियंका ने कहा, "लेकिन, हमें कश्मीर में बड़ी संख्या में हताहतों के बारे में भी चिंतित होना चाहिए। हम मांग करते हैं कि इस सरकार को ऐसे ठोस कदम उठाने चाहिए कि इस तरह की आतंकी घटना दोबारा भविष्य में न हो।"