Mohan Bhagwat

इस फैसले पर भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी ने अपनी बातें रखते हुए कहा कि, मैं अपने सभी देशवासियों के साथ ही आज अयोध्या मामले में उच्चतम न्यायालय की पांच-सदस्यीय संविधान पीठ द्वारा दिए गए ऐतिहासिक फैसले का तहे दिल से स्वागत करता हूं।

अयोध्या फैसला आने के बाद राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ प्रमुख मोहन भागववत ने प्रेस कॉन्फ्रेंस किया। उन्होंने कहा कि, हम सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले का स्वागत करते हैं। यह मामला दशकों से चल रहा था और यह सही निष्कर्ष पर पहुंच गया है।

दशकों से चले आ रहे अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट द्वारा फैसला सुनाने के पहले स्थिति पर निगरानी रखने के लिए राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ (आरएसएस) के प्रमुख मोहन भागवत शनिवार को राष्ट्रीय राजधानी में मौजूद रहेंगे।

इस बैठक को लेकर संघ और भाजपा के सूत्र अलग-अलग दावे कर रहे हैं। संघ से जुड़े सूत्रों ने बताया कि शिवसेना के साथ बातचीत सुलझाने के लिए देवेंद्र फडणवीस संघ से दखल करने का अनुरोध करने भागवत से मिलने पहुंचे हैं। शिवसेना भी चाहती है कि संघ मध्यस्थता कर दोनों दलों के बीच जारी गतिरोध दूर करे।

बीते रविवार को मन की बात कार्यक्रम में भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसकी तारीफ करते हुए कहा था कि 2010 में राम मंदिर पर आने वाले फैसले पर सामाजिक संगठनों, राजनीतिक दलों, सभी संप्रदायों के लोगों और साधु-संतों ने संतुलित बयान देकर न्यायपालिका के गौरव का सम्मान किया।

दिल्ली में आरएसएस की इस बैठक में संगठन के प्रचार प्रमुख अरुण कुमार ने कहा कि 30 अक्टूबर से 5 नवंबर तक हरिद्वार में प्रचारक वर्ग के साथ दो दिन की बैठक पहले से निश्चित थी, लेकिन इस बैठक को आवश्यक कारणों से स्थगित कर दिया गया।

भाजपा, विहिप,विद्यार्थी परिषद, मजदूर संघ, वनवासी कल्याण आश्रम, मजदूर संघ, विद्याभारती, संस्कार भारती जैसे चल रहे संघ के सभी अनुषांगिक संगठनों के करीब 450 संगठन मंत्रियों को पूरे देश से बुलाया गया है।

आरएसएस सरसंघचालक मोहन भागवत पर निशाना साधते हुए ओवैसी ने कहा कि मोहन भागवत भारत को हिंदू राष्ट्र बताकर मेरे इतिहास को मिटा नहीं सकते हैं।

आरएसएस के सूत्रों ने कहा कि इस दौरान भागवत 15-20 अक्टूबर के बीच अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल की बैठक में शामिल होंगे, जहां विभिन्न राज्यों और मान्यता प्राप्त समूहों के पदाधिकारी शामिल होंगे।

शिव नाडर ने महानगर की ओर से आयोजित पथसंचलन का संघ प्रमुख मोहन भागवत के साथ अवलोकन किया। शिव नाडर और मोहन भागवत ने संघ संस्थापक डॉ. हेडगेवार और द्वितीय सर संघचालक गुरुजी की समाधि पर भी श्रद्धासुमन अर्पित किए।