Movie

चंदन का मानना है कि सोशल मीडिया के इस दौर में 'कमीने' यदि आज रिलीज हुई होती तो यह एक बड़ी हिट होती। चंदन के मुताबिक, उन दिनों सोशल मीडिया इतनी मजबूत नहीं थी। अब हर कोई सोशल मीडिया पर है।

आर्टिकल 15 को आधार बनाकर बनाई गई ये बेहद प्रभावशाली फिल्म ऐसे कई सवालों से आपके मन को बैचेन कर देगी और यही बैचेनी फिल्म की सबसे बड़ी कामयाबी के रूप में सामने आती है।आयुष्मान खुराना पुलिस वाले के रोल में बेहद जंचते ही नहीं, बल्कि अपना प्रभाव भी छोड़ जाते हैं।

फिल्म की कहानी एक परिवार और उसके संघर्ष के बारे में हैं और एक शादीशुदा दंपति के बारे में है जो परिवार के मूल्यों और परंपराओं को कायम रखने की पूरी कोशिश करते हैं। 

सान्या ने कहा कि उन्होंने 'मेन इन ब्लैक' फिल्मों का पूरी तरह से आनंद लिया है और स्टाइलिश एक्शन व ह्यूमर का हमेशा से चहेती रहीं हैं।

हस्तियों में अभिषेक बच्चन, तापसी पन्नू, टीवी अभिनेता शब्बीर अहलूवालिया और अर्जुन कपूर फिल्म देखने पहुंचे।

'विक्की डोनर', 'पीकू' और 'अक्टूबर' फेम जूही चतुर्वेदी ने फिल्म की कहानी लिखी है। फिल्म का निर्माण रोनी लाहिड़ी और शील कुमार ने किया है।

भूषण कुमार के प्रोडक्शन हाउस टी-सीरीज़ ने भूल भुलैया का शीर्षक दर्ज करके फिल्म बनाने की ओर अपना पहला कदम बढ़ा दिया है।

बनारस में चल रही राजनीतिक हलचलों से अल्लाह के काम में बाधा पहुंच रही है और वह अब पहले की तरह मंदिर में खुलेआम न जाकर चुपके से जाता है, ताकि किसी को पता न चल सके कि वह मुसलमान होकर मंदिर में काम करता है।

बिग बी ने लिखा, "'डॉन' एक ऐसा नाम था, जिसे मार्केट में किसी की मंजूरी नहीं मिली थी। वे (निर्माता) कभी नहीं समझ पाए कि इसका मतलब क्या है और उन्हें कभी ऐसा नहीं लगा कि 'डॉन' जैसा नाम किसी हिंदी फिल्म के शीर्षक के लिए सही है।

फिल्म की कहानी कॉलेज के एक मेहनती छात्र की है जो अपनी व्यक्तिगत चुनौतियों को पार करता है और स्टूडेंट ऑफ द ईयर कप को जीतने के लिए अपने प्रतिद्वन्द्वियों का सामना करता है।