Nagaland

नागा शांति-वार्ता के सफल हो जाने की स्थिति में इस संगठन और इसके स्वयम्भू नेता को अप्रासंगिक हो जाने का डर है; क्योंकि यह संगठन वास्तव में बहुसंख्यक नागा समुदाय का प्रतिनिधित्व नहीं करता।

भूकंप आने के पीछे मुख्‍य वजह धरती के अंदर 7 प्लेट्स ऐसी होती हैं जो लगातार घूम रही हैं। ये प्लेट्स जिन जगहों पर ज्यादा टकराती हैं, उसे फॉल्ट लाइन जोन कहा जाता है।

दिल्ली एयरपोर्ट से भी 82 के करीब उड़ानों के कैंसिल होने की सूचना मिली। इसमें से अलग-अलग राज्यों के लिए उड़ाने कैंसिल की गईं। पंजाब के फगवाड़ा में स्थित लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी के 32 बच्चे भी इसी वजह से एयरपोर्ट पर फंस गए।

ऐसा ही एक मामला नागालैंड के दीमापुर से आया है जहां बिहार के पूर्णिया और मधेपुरा जिले के मज़दूर फंसे हुए थे। मदद के लिए उन्होंने केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद से भावपूर्ण वीडियो के जरिए गुहार लगाई।

नागालैंड के विधानसभा अध्यक्ष विखो-ओ-योशू के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को शोक प्रकट किया है। विखो कैंसर से पीड़ित थे।  उनके परिवार में उनकी पत्नी तथा 10 बच्चे हैं। योशू के पार्थिव शरीर को आज (मंगलवार) नागालैंड लाया जाएगा।

हिमालय के वनों व तराई में मिलने वाली दुर्लभ एवं जीवनरक्षक औषधियों का लाभ जल्द ही शहरी लोग भी ले सकेंगे। सरकार ने आयुर्वेदिक उपचार की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए हिमालय की गोद में आयुर्वेदिक नेशनल रिसर्च इंस्टीट्यूट को मंजूरी दे दी है।

जहां एक तरफ नागरिकता संशोधन विधेयक के राज्यसभा से पारित होने के बाद से हीं पूर्वोत्तर के राज्यों में जमकर बवाल मचा है वहीं मणिपुर में इस बिल के पास होने के बाद से ही लोग जश्न मना रहे हैं।

प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना (पीएमएवाई-जी) के तहत अब तक 88 लाख से ज्यादा मकानों का निर्माण कार्य पूरा हो चुका है। यह जानकारी केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने मंगलवार को लोकसभा में एक सवाल के लिखित जवाब में दी।

नागालैंड का आज 57वां स्थापना दिवस है। आज ही के दिन साल 1963 में नागालैंड राज्य की स्थापना की गई थी। नागालैंड भारत का एक उत्तर पूर्वी राज्य है, जिसकी राजधानी कोहिमा है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को नागालैंड के 57वें स्थापना दिवस के मौके पर राज्य के लोगों को शुभकामनाएं दीं।

अभिनेत्री ने आगे कहा, "नागालैंड भारत की सबसे साफ जगहों में से एक है। यह बहुत ही सुंदर और दर्शनीय है। वहां के लोग साफ-सफाई और स्वच्छता रखने में गर्व महसूस करते हैं। वे पेड़ और फूल लगाकर अपने घरों को सजाते हैं।"