Navratri

महामारी कोरोना से पूरे देश में 21 अप्रैल तक लॉकडाउन होने के कारण स्वामी अभिषेक ब्रह्मचारी ने भगवती का पूजन विधि विधान से शुरू किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नवरात्र के पहले दिन ट्वीट कर कहा है कि इस बार भी वो 9 दिन तक व्रत रखेंगे और जो लोग कोरोना के खिलाफ लड़ाई में जुटे हैं, उनके उत्तम स्वास्थ्य, सुरक्षा एवं सिद्धि को यह नवरात्रि समर्पित करेंगे।

प्रतिदिन सुबह जल्दी उठकर नहाने के बाद सूर्य को जल चढ़ाएं। इसके लिए तांबे के लोटे में जल भरें और इसमें चावल, लाल फूल, लाल चंदन भी डालें। पूर्व दिशा की ओर मुंह करके सूर्य देव को अर्घ्य चढ़ाएं। इस दौरान सूर्य मंत्र ‘ऊँ सूर्याय नम:’ का जाप करें।

देशभर में दुर्गा पूजा की धूम, देखें पंडालों से लेकर मूर्तियों की एक झलक

डाटबिटीज के मरीज हैं तो व्रत तोड़ने के बाद कुछ खाकर अपने शुगर लेवल की जांच जरूर करें। ब्लड प्रेशर के मरीज अपना बीपी चेक करें और कुछ दिक्कत होने पर डॉक्टर से संपर्क करें।

यह पूजा नवमी तिथि पर की जाती है। महानवमी पर शक्ति पूजा भी की जाती है जिसको करने से निश्चित रूप से विजय की प्राप्ति होती है। आज के दिन महासरस्वती की उपासना भी होती है जिससे अद्भुत विद्या और बुद्धि की प्राप्ति हो सकती है।

तस्वीरों में वो और उनके पति मां दुर्गा के सामने हाथ जोड़कर पूजा करते हुए नजर आ रही हैं। तस्वीरों में नुसरत लाल और पीले रंगों वाली साड़ी पहनी हुईं हैं। इसके अलावा ज्वेलरी और सिंदूर भी लगाया है।

पूरे देश में दुर्गा पूजा की धूम, सज गए आकर्षक पंडाल

नवरात्रि की अष्टमी तिथि को मां महागौरी की पूजा का विधान है। भगवान शिव की प्राप्ति के लिए इन्होंने कठोर पूजा की थी जिससे इनका शरीर काला पड़ गया था।

इनके हाथों में खड्ग और कांटा है और गधा इनका वाहन है। परन्तु ये भक्तों का हमेशा कल्याण करती हैं। अतः इन्हें शुभंकरी भी कहते हैं। इस बार मां के सातवें स्वरुप की पूजा 05 अक्टूबर को की जा रही