NCP

देशभर में चल रहे नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ विरोध प्रदर्शन के बीच महाराष्ट्र सरकार की ओर से ये कहा गया था कि वह इस कानून के खिलाफ विधानसभा में बिल नहीं लाएगी। लेकिन अब महाराष्ट्र सरकार में मुस्लिमों के लिए आरक्षण की चर्चा जोरो पर है।

उन्होंने लिखा कि उनके कहने पर राहुल गांधी ने वादा किया था कि मुंबई के लोगों को एसआरए और सरकार की अन्य योजनाओं के तहत 500 स्क्वायर फीट का घर दिया जाएगा। इस वादे को पूरा किया जाए।

दरअसल शिवसेना अपने गठबंधन के चक्कर में फंस चुकी है। गठबंधन में शामिल कांग्रेस और एनसीपी जैसे दल सेकुलरिज्म के नाम पर हिंदू धर्म के प्रतीकों से दूरी बनाते आए हैं।

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के अध्यक्ष शरद पवार के नई दिल्ली स्थित आधिकारिक आवास से सुरक्षा हटाए जाने को बदले की राजनीति करार देते हुए राकांपा और शिवसेना ने शुक्रवार को केंद्र सरकार पर निशाना साधा है।

महाराष्ट्र में शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस गठबंधन की सरकार गठन के बाद विभागों के बंटवारे में एक महीने के लगभग का समय लग गया।

पीडब्ल्यूपी की अध्यक्ष जयंत पाटिल भी नाराज हैं और उनकी पार्टी के एक विधायक हैं। ऐसे ही बहुजन विकास आघाड़ी के अध्यक्ष हितेंद्र ठाकुर भी कैबिनेट में जगह न मिलने से खफा हैं।

महाराष्ट्र में सोमवार को उद्धव सरकार का मंत्रिमंडल विस्तार हुआ। कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना के खाते से कुल 36 नेताओं ने मंत्री पद की शपथ ली। अजित पवार एक बार फिर राज्य के उपमुख्यमंत्री बने हैं, महीने में दूसरी बार उन्होंने डिप्टी सीएम पद की शपथ ली।

महाराष्ट्र में उद्धव ठाकरे के मंत्रिमंडल विस्तार से पहले घमासान छिड़ गया है। तीनों ही पार्टियां अपने हिस्से के अधिक मंत्री पद के लिए खींचतान कर रही हैं। इस बीच तीनों ही पार्टियों की संभावित लिस्ट सामने आ गई है।खास बात यह है कि शिवसेना सुप्रीमो उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे कैबिनेट मंत्री बनेंगे।

महाराष्ट्र में उद्धव ठाकरे के नेतृत्व में महा अघाड़ी सरकार के गठन के करीब एक महीने के बाद आज पहला कैबिनेट विस्तार होगा। महाराष्ट्र में कुल 36 मंत्री शपथ लेने वाले हैं। इनमें 25 कैबिनेट मंत्री होंगे, जबकि 10 राज्य मंत्री होंगे।

मनसे अध्यक्ष राज ठाकरे ने राज्य में हालिया राजनीतिक घटनाक्रम को लोगों का अपमान बताया। साथ ही पूर्ववर्ती भाजपा-शिवसेना गठबंधन पर भी हमला बोला। उन्होंने कहा कि शिवसेना और भाजपा ने जनता की भावनाओं का अपमान किया है।