Netflix

बेव सीरीज 'दिल्ली क्राइम' (Delhi crime) ने इसमें 'बेस्ट ड्रामा सीरीज' (Best Drama Series) का खिताब अपने नाम किया है। जो भारत के लिए गर्व की बात है

A Suitable Boy: ओटीटी प्लेटफॉर्म नेटफ्लिक्स (Netflix) पर रिलीज की गई वेब सीरीज 'ए सूटेबल ब्वॉय' (A Suitable Boy) को लेकर जमकर बवाल मचा हुआ है। इतना ही नहीं वेब सीरीज पर हिंदू भावनाओं को ठेस पहुंचाने और लव जिहाद को बढ़ावा देने के आरोप लग रहे हैं।

Netflix: मध्य प्रदेश(Madhya Pradesh) के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा(Narottam Mishra) ने अधिकारियों को इस मामले में जांच करने के आदेश दिए हैं। उन्होंने इस सीरीज के निर्माता निर्देशक पर क्या कार्रवाई हो सकती है, इसके लिए अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि सभी बिंदुओं का पड़ताल करके सूचित करने को कहा है।

Netflix: गौरव(Gaurav Tiwari) ने लिखा है कि, अपने ‘A Suitable Boy’ कार्यक्रम में NetflixIndia ने एक ही एपिसोड में तीन बार मंदिर प्रांगण में चुंबन दृश्य फ़िल्माए। पटकथा के अनुसार मुस्लिम युवक को हिंदू महिला प्रेम करती है, पर सभी किसिंग सीन मंदिर प्रांगण में क्यूँ शूट किए गए? मैने रीवा में इस मामले पर FIR दर्ज करा दी है।

Information and Broadcasting ministry: बुधवार को केंद्र सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। इस फैसले के अंतर्गत डिजिटल मीडिया भी अब सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के अधीन और नियंत्रण में होगा। इसकी अधिसूचना केंद्र सरकार की ओर से आज जारी की गई है।

बॉलीवुड एक्टर विक्रांत मैसी (Vikrant Massey) और श्वेता त्रिपाठी (Shweta Tripathi) की फिल्म 'कार्गो' (Cargo) नेटफ्लिक्स (Netflix) पर रिलीज हो गई है।

नई दिल्ली। दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) ने जाह्न्वी कपूर (Jhanvi Kapoor) अभिनीत फिल्म ‘गुंजन सक्सेना : द कारगिल गर्ल’...

भगोड़ा कारोबारी मेहुल चोकसी (Mehul Choksi) ने नेटफ्लिक्स (Netflix) की आने वाली वेब सीरीज 'बैड ब्वॉय बिलेनियर्स : इंडिया' (Bad Boy Billionaires: India) के खिलाफ बुधवार को दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court ) का दरवाजा खटखटाया।

एक बार फिर वीडियो प्लेटफॉर्म नेटफ्लिक्स पर बवाल सामने आया है। इस बार ये बवाल नेटफ्लिक्स की फिल्म 'कृष्णा एंड हिज लीला' को लेकर हुआ है। इस फिल्म पर हिन्दुओं की धार्मिक आस्थाओं से खिलवाड़ करने का आरोप है।

अनुराग कश्यप की फिल्म 'चोक्ड : पैसा बोलता है' में डिमॉनेटाइजेशन (नोटबंदी) ने एक अभिन्न भूमिका निभाई है। फिल्म निर्माता का कहना है कि इसने उन्हें पैसे और शादी की कहानी को एक सहज तरीके से जोड़ने में मदद की। फिल्म निर्माता ने कहा, "चोक्ड : पैसा बोलता है हमेशा से एक ग्रेट आइडिया और एक अच्छी स्क्रिप्ट थी लेकिन 'एक्स-फैक्टर' की कमी थी। डिमॉनेटाइजेशन ने इसे एक साथ बांधने का काम किया।"