Nirbhaya Case

निर्भया के गुनाहगारों को 20 मार्च को फांसी होगी। उन्हें फांसी देने के लिए मेरठ का पवन जल्लाद तिहाड़ जेल पहुंच चुका है। कल यानि बुधवार को फांसी का डमी ट्रायल किया जाएगा। निर्भया के तीन गुनाहगारों को आखिरी मुलाकात का मौका दिया जा चुका है।

निर्भया के गुनहगारों की फांसी का दिन नजदीक आ रहा है। दिल्‍ली कोर्ट के द्वारा जारी डेथ वारंट के अनुसार इन सभी दोषियों को तिहाड़ जेल में 20 मार्च को फांसी होनी है।

निर्भया के दोषी फांसी टलवाने की एक के बाद दूसरी कोशिश में लगे हुए हैं। उन्होंने इसी सिलसिले में ताजी कोशिश जेल में हुई कथित मारपीट के मामले को कोर्ट की जानकारी में लाकर की। मगर कोर्ट ने साफ कर दिया कि इस मामले का उनकी फांसी की तारीख पर कोई असर नहीं पड़ेगा।

तीन बार फांसी की सजा से बचने के बाद अब निर्भया के दोषियों के पास बचाव का की भी विकल्प मौजूद नहीं है। जिसको देखते हुए दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट दोषियों के लिए नया डेथ वारंट जारी कर दिया है।

तीन बार सजा टलने के बाद एक बार फिर निर्भया के दोषियों को फांसी पर लटकाने का रास्ता साफ नजर आ रहा है। निर्भया मामले में दोषी पवन की दया याचिका को राष्ट्रपति ने ख़ारिज कर दिया। जिसके बाद निर्भया के दोषियों की फांसी की तारीख और समय कल यानि गुरुवार (5 मार्च) को तय हो जाएगा।

निर्भया केस के दरिंदों की फांसी एक बार फिर टल गई है। बता दें, कल सुबह 6 बजे इनकी फांसी होनी थी लेकिन अब पटियाला हाउस कोर्ट ने अगले आदेश तक फांसी पर रोक लगाई।

निर्भया के दोषियों की डेथ वारंट पर रोक लगाए जाने की मांग करने वाली याचिका को पटियाला हाउस कोर्ट ने सोमवार को खारिज कर दिया। इस बीच, सुप्रीम कोर्ट से क्यूरेटिव पिटिशन खारिज होने के बाद दोषी पवन कुत्ता ने राष्ट्रपति के पास दया याचिका दाखिल की है।  

दिल्ली के निर्भया गैंगरेप और हत्या के मामले में अब दोषी पवन गुप्ता ने सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव याचिका दाखिल की है। बता दें, 3 मार्च को निर्भया के चारों दोषियों को फांसी होनी है।

निर्भया के गुनहगार अब अपने अंजाम पर पहुंचने ही वाले हैं। इस बात के संकेत मिलने शुरू हो गए हैं। तिहाड़ प्रशासन ने सभी गुनाहगारों को आखिरी चिट्ठी लिखी है। यह चिट्ठी इनके परिवार से अंतिम मुलाकात के लिए है।

निर्भया गैंगरेप मामले के दोषी विनय ने दीवार पर सिर मारकर खुद को घायल कर लिया। इसमें उसे मामूली चोटें भी आई हैं। तिहाड़ जेल प्रबंधन ने इस घटना की पुष्टि की है। घटना 16 फरवरी की बताई जा रही है।