nirmla sitaraman

कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा पेश किए गए बजट को पर एक ट्वीट किया जिसमें उन्होंने लिखा कि, "वित्त मंत्री जी, मेरे सवालों से मत डरिए।

केंद्रीय वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण के 2 घंटे 40 मिनट के लंबे बजट भाषण में अर्थव्यवस्था के सभी क्षेत्रों को समाहित करते हुए जो प्रस्ताव किए गए हैं, उन्हें बड़ी संख्या में लोगों ने स्वीकृति दी है

दिलचस्प बात यह है कि अधिकांश लोग सरकार के फैसले का समर्थन करते हैं, लेकिन फैसले की शुद्ध अनुमोदन रेटिंग 45.7 फीसदी रही। 50 से नीचे की स्वीकृति रेटिंग को नकारात्मक कहा जाता है।

एक यूजर ने रिप्लाई में लिखा कि, "5 लाख तक कोई टैक्स नहीं , इस दायरे में कितने दिल्ली वाले आते हैं ?? उनको फायदा नहीं हुआ?क्यों गुमराह कर रहे हो ? झूठ और फरेब के सिवा कुछ नहीं आता?"

अपने भाषण में वित्त मंत्री ने महिलाओं के लेकर भी बड़ी घोषणा करते हुए बताया कि "बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजनाओं को काफी समर्थन मिला, इस योजना के जरिए बाल अनुपात में बढ़ा अंतर देखने को मिला है।

वित्त मंत्री शनिवार को जब बजट पेश करने के लिए सदन में पहुंची तो वो काफी उत्साह में दिखाई दीं। इस सत्र के बजट में उन्होंने किसानों के लिए कई घोषणाएं और शिक्षा के क्षेत्र के लिए हजारों करोड़ रुपये की घोषणा की।

मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का ये पहला आम बजट है। बजट पेश करने के दौरान पीएम मोदी और गृह मंत्री समेत मोदी सरकार के तमाम मंत्री सदन में उपस्थित रहे।

राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में पीएम मोदी और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण को लेकर लिखा है कि, "मोदी और आर्थिक सलाहकारों की उनकी ड्रीम टीम ने सच में अर्थव्यवस्था को बदल दिया है।

वित्त मंत्री ने कहा कि सरकार देशभर में बड़े शॉपिंग फेस्टिवल आयोजित करने की योजना बना रही है, जिसमें सीएआईटी को भी शामिल किया जाएगा, ताकि व्यापारियों को अपने उत्पादों को प्रदर्शित करने के अधिक अवसर मिल सकें।

मौजूदा समय में 2.5 लाख रुपये तक की सालाना आमदनी टैक्स फ्री है। 2.5 लाख से 5 लाख रुपये तक की आमदनी पर 5 फीसदी की दर से, 5-10 लाख रुपये तक की आमदनी पर 20 फीसदी और 10 लाख रुपये से ज्यादा की आमदनी पर 30 फीसदी की दर से टैक्स लगाया जाता है।