NRC

Supreme Court on Shaheen Bagh: बता दें कि अब कोर्ट(Supreme Court) ने साफ कर दिया है कि प्रशासन को रास्ता जाम(Road Block) कर प्रदर्शन रहे लोगों को हटाना चाहिए, कोर्ट के आदेश का इंतजार नही करना चाहिए।

ये भी जानना ज़रूरी है की ये दंगे किन इलाक़ों में हुए। ये सभी इलाक़े मुस्लिम बहुल क्षेत्र हैं जिसकी पुष्टि 2011 की जनसंख्या रिपोर्ट से होती है जो ये बताती है की उत्तर पूर्वी दिल्ली के इन इलाक़ों में क़रीब 30 फ़ीसदी मुस्लिम आबादी है।

कोरोनावायरस के प्रकोप से बचने के लिए लखनऊ में सीएए और एनआरसी के विरोध में हो रहा धरना प्रदर्शन खत्म हो गया है।प्रदर्शन से हटने के बाद महिलाएं धरना स्थल पर दुपट्टा छोड़कर गई है। धरने पर बैठीं महिलाओं का कहना है कि एक बार कोरोना का असर खत्म हो फिर हम दोबारा बैठेंगे।

राजनीतिक रूप से शरद पवार और अजीत पवार के बीच मतभेद कई बार उजागर हो चुके हैं। वहीं अब सीएए और एनपीआर की आग महाराष्ट्र में अजित पवार और शरद पवार के बीच दिखने लगी है। जहां एक तरफ तो अजित पवार नागरिकता कानून का खुलकर समर्थन कर रहे हैं।

रविवार रात दिल्ली में झूठी अफवाह फैलाने के मामले में गिरफ्तारियां शुरू हो गई हैं। दिल्ली पुलिस ने रोहिणी जिले में अफवाह फैलाने के मामले में अमन विहार के रहने वाले शख्स को गिरफ्तार किया है।

गुरुवार को बाकायदा दिल्ली पुलिस मुख्यालय ने एक विशेष जांच टीम (एसआईटी) गठित कर दी। एसआईटी में दिल्ली पुलिस अपराध शाखा में तैनात आठ दबंग एसीपी शामिल किए गए हैं।

बिहार की राजधानी पटना के ऐतिहासिक गांधी मैदान में वामदल नेता और जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार की संविधान बचाओ नागरिकता बचाओ महारैली हुई।

दिल्‍ली के सीएम अरविंद केजरीवाल बुधवार को पूरे एक्‍शन में दिखे। विधानसभा सत्र में उन्‍होंने हिंसा में शहीद हुए रतन लाल के परिवार को आर्थिक मदद के एलान का किया।

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल को हिंसा रोकने की जिम्मेदारी दी गई। जिसके बाद डोभाल एक बार फिर से नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली के सीलमपुर इलाके में डीसीपी ऑफिस पहुंचे।

हमने पहले भी कहा था कि नाथूराम गोडसे के पैदा होने से कोई भी सभ्य समाज कलंकित ही महसूस करता है, लेकिन वह केवल महात्मा गांधी पैदा करने की गारंटी भी नहीं दे सकता। 10 लाख लोगों की लाशों पर इस्लाम के नाम पर हुआ देश-विभाजन हिंदुओं के चेतन-अवचेतन में ज़रूर रहता है और हमेशा रहना चाहिए।