NSE

कोरोना के कहर से गुरुवार को दलाल स्ट्रीट पर फिर कोहराम मच गया। विदेशी बाजारों से मिले निराशाजनक संकेतों से बढ़े बिकवाली के भारी दबाव में सेंसेक्स 1,900 अंक से ज्यादा लुढ़ककर 33,800 के मनोवैज्ञानिक स्तर से नीचे आ गया।

विदेशी बाजारों से मिले मजबूत संकेतों से बुधवार को घरेलू शेयर बाजार में शुरुआती कारोबार के दौरान तेजी के रुझानों के बीच सेंसेक्स 300 अंक से ज्यादा उछला और निफ्टी भी 10,500 के ऊपर चला गया।

वैश्विक बाजारों से मिले निराशाजनक संकेतों से सोमवार को भारतीय शेयर बाजार में फिर भारी बिकवाली के दबाव से सेंसेक्स 1,500 अंक टूटा, जबकि निफ्टी में 400 अंकों से ज्यादा की गिरावट आई। सुबह 10:08 बजे सेंसेक्स पिछले सत्र से 1,482.74 अंकों यानी 3.95 फीसदी की भारी गिरावट के साथ 36,093.88 पर कारोबार कर रहा था।

कोरोना के कहर से भारतीय शेयर बाजार में शुक्रवार को फिर कोहराम मच गया। शुरुआती कारोबार के दौरान प्रमुख संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 1450 अंक से ज्यादा लुढ़क कर 37,011 पर आ गया।। निफ्टी में 441 अंक टूटकर 10,827.40 के स्तर पर आ गया।

कोरोना के कहर से शेयर बाजार में शुक्रवार को कोहराम मच गया। बाजार में भारी गिरावट दर्ज की गई।

कोरोना के कहर से शेयर बाजार में शुक्रवार को कोहराम मच गया। भारी बिकवाली के दबाव में सेंसेक्स शुरुआती घंटे के कारोबार के दौरान 1178 अंक टूटकर 38,567 पर आ गया। वहीं निफ्टी भी करीब 357 अंक लुढ़ककर 11,276.35 तक गिर गया।

भारतीय शेयर बाजार में गुरुवार को आरंभिक सत्र के दौरान कमजोर कारोबारी रुझान के बीच सेंसेक्स 100 अंक फिसला और निफ्टी में भी लाल निशान के साथ कारोबार चल रहा था।

घरेलू शेयर बाजार बुधवार को शुरुआती कारोबार के दौरान गुलजार रहा। जोरदार लिवाली आने से सेंसेक्स 400 अंक से ज्यादा उछला और निफ्टी भी 100 अंक चढ़कर 12,000 के ऊपर कारोबार कर रहा था।

मूडीज की रिपोर्ट के बाद मंगलवार को भारतीय शेयर बाजार में विकवाली के भारी दबाव से प्रमुख संवेदी सूचकांक सेंसेक्स लुढ़ककर 41,000 से नीचे आ गया और निफ्टी भी 12,000 के नीचे बना हुआ था।

घरेलू शेयर बाजार की शुरुआत सोमवार को तेजी के साथ हुई लेकिन बाद में विदेशी संकेत उत्साहवर्धक नहीं रहने से बाजार में कारोबारी रुझान सुस्त पड़ गया। शुरुआती तेजी के बाद सेंसेक्स और निफ्टी में लाल निशान के साथ कारोबार चल रहा था।