P Chidambaram

तिहाड़ जेल में कैद पूर्व वित्तमंत्री पी चिदंबरम ने कोर्ट के सामने अपनी तकलीफ बयां की है। उन्होंने वकील के जरिए बताया है कि उन्हें जेल में बुरी स्थितियों से दो चार होना पड़ रहा है। उनकी स्वास्थ्य को लेकर तकलीफ बढ़ गई हैं और उन्हें घर का खाना भी नसीब नहीं हो रहा है।

पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम की मुश्किलें बढ़ती ही जा रही हैं। वह अभी भी तिहाड़ जेल में कैद हैं। आईएनएक्स मीडिया मामले में उनकी जमानत याचिका पर ऑर्डर रिजर्व हो चुका है।

आईएनएक्स मीडिया केस में जेल में बंद पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम से मिलने के लिए सोमवार को कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह तिहाड़ जेल पहुंचे।

पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम का आज 74वां जन्मदिन है। वह आईएनएक्स मीडिया मनी लांड्रिंग मामले में इस समय तिहाड़ जेल में बंद है। वह 19 सितंबर तक यहीं रहेंगे क्योंकि राउज एवेन्यू अदालत ने उन्हें आईएनएक्स मामले में 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा हुआ है।

जिस दिन भी कोई विचाराधीन कैदी जेल की देहरी के भीतर पहुंचता है। उसी दिन या फिर अगले दिन उसकी मर्जी से या जितनी उसकी सामथ्र्य-इच्छा हो, उसके हिसाब से वक्त जरूरत के लिए उसके 'प्रिजनर वैलफेयर फंड' में कुछ रुपये परिजनों से जमा करा लिये जाते हैं।

पी. चिदंबरम का 16 सितंबर को जन्मदिन भी है। इसे इत्तेफाक कहें या फिर बुरे वक्त का फेर कि चिदंबरम को अपना 74वां जन्मदिन तिहाड़ जेल की कोठरी में मनाना पड़ेगा।

खबर है कि उन्हें 7 नंबर जेल में रखा जाएगा। इस जेल में आर्थिक अपराध से जुड़े लोगों को रखा जाता है, चिदंबरम के बेटे कार्ति को भी जेल नंबर 7 में रखा गया था।

साल 2006 में एयरसेल-मैक्सिस डील को पी. चिदंबरम ने बतौर वित्त मंत्री मंजूरी दी थी। पी. चिदंबरम पर आरोप है कि उनके पास 600 करोड़ रुपए तक के प्रोजेक्ट प्रपोजल्स को ही मंजूरी देने का अधिकार था।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्तमंत्री पी चिदंबरम को सुप्रीम कोर्ट से बड़ा झटका लगा है। आईएनएक्स मीडिया केस में प्रवर्तन निदेशालय  के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने चिदंबरम को अग्रिम जमानत देने से इनकार कर दिया है।

अब खबरें आ रही है कि, सीबीआई उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के खिलाफ 2016 में आए स्टिंग वीडियो मामले में केस दर्ज करने वाली है।