Pakistan Occupied Kashmir

भारतीय राजनीति में इस साल कुछ घटनाएं ऐसी हुईं, जिनका जब भी जिक्र होगा तो 2019 की याद हमेशा आएगी। 2020 का स्वागत करने के साथ ही इन घटनाओं को भी याद करना जरूरी होगा। साल 2019 में एनडीए गठबंधन को फिर से केंद्र की सत्ता मिल गई लेकिन भाजपा के कई दिग्गज नेताओं को खोने का दुःख भी इस साल पार्टी के हिस्से में आया। पार्टी को इससे बड़ा झटका लगा।

राफेल विमान सौदे में भ्रष्टाचार, पुलवामा आतंकी हमले के बाद पाक अधिकृत कश्मीर में एयर स्ट्राइक को लेकर सरकार को घेरने की कवायद के बीच 2019 का लोकसभा चुनाव लड़ा गया और सारे दावों को धता बताते हुए मोदी 2.0 सरकार कहीं अधिक मजबूती के साथ केंद्र में आई।

साल 2019 में जब नरेंद्र मोदी सरकार प्रचंड बहुमत से आई तो उसके सामने सबसे बड़ी चुनौती देश की अर्थव्यवस्था को उबारने के रूप में थी।

साल 2019 में एनडीए गठबंधन को फिर से केंद्र की सत्ता मिल गई लेकिन भाजपा के कई दिग्गज नेताओं को खोने का दुःख भी इस साल पार्टी के हिस्से में आया।

साल 2019 को अलविदा कहने से पहले नरेंद्र मोदी सरकार के उन तीन बड़े फैसले और तीन बड़े विवाद को जानना जरूरी है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दोबारा सत्ता संभाली तो उन्होंने अपनी पार्टी के घोषणापत्र पर काम करना शुरू कर दिया। मोदी 2.0 सरकार ने ऐसे कई फैसले लिए जो ऐतिहासिक रहे।

भारतीय सेना की कार्रवाई में चार से पांच पाकिस्तानी सैनिक मारे गए हैं। इनमें दो मेजर रैंक के अधिकारी बताए जा रहे हैं।

पाकिस्तान सीमा पर भारत की तैयारियों से बेहद डरा हुआ है। उसे भारत की ओर से किसी बड़ी कार्यवाही का डर सता रहा है।

कश्मीर पर भारत के खिलाफ झूठ फैलाने वाले पाकिस्तान को अपने ही लोगों ने बेनकाब कर दिया है। पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर की राजधानी मुजफ्फराबाद में आजादी की मांग को लेकर फिर विरोध प्रदर्शन हुए है।

कश्मीर को लेकर अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर फजीहत कराने वाले पाकिस्तान को एक और बड़ा झटका लगा है। सूत्रों के अनुसार भारत ने फ्रांस के निचले सदन में पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) के राष्ट्रपति मसूद खान के कार्यक्रम को रद्द करवा दिया है।