priyanka gandhi

दिल्ली के तुगलकाबाद में रविदास मंदिर तोड़े जाने के विरोध में रामलीला मैदान में जुटे भीम आर्मी के कार्यकर्ता उग्र हो गए और पत्थरबाजी की। इन्हें रोकने के लिए पुलिस को बल प्रयोग के साथ ही भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद समेत कई लोगों को गिरफ्तार करना पड़ा।

इस बीच कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी उनके बचाव में खुलकर सामने आ गई हैं। प्रियंका गांधी ने तुरंत ही चिदंबरम को ईमानदारी का सर्टिफिकेट दे दिया। मगर इस सबके पीछे प्रियंका गांधी के पति रॉबर्ट वाड्रा के ईडी में चल रहे मामले का भी असर दिखाई दे रहा है।

प्रियंका ने कहा, "आरएसएस ने घोषणा की है कि समाज के सभी मुद्दों को सौहार्दपूर्ण बातचीत के माध्यम से हल किया जाना चाहिए। मुझे लगता है कि मोदी जी और उनकी सरकार या तो आरएसएस के विचारों का सम्मान नहीं करते, या वे नहीं मानते कि जम्मू एवं कश्मीर में कोई मुद्दा है।"

प्रियंका ये भूल गईं थी कि कांग्रेस में अशोक गहलोत की सरकार है। इस मामले में हुई किरकिरी के बाद अब गहलोत सरकार ने नए सिरे से जांच के लिए एसआईटी बनाने का ऐलान किया है।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने बयान दिया था कि पहलू खान मामले में लोअर कोर्ट का फैसला चौंका देने वाला है। हमारे देश में अमानवीयता की कोई जगह नहीं होनी चाहिए और भीड़ द्वारा हत्या एक जघन्य अपराध है।

प्रियंका गांधी ने कहा कि हमारे देश में अमानवीयता की कोई जगह नहीं होनी चाहिए और राजस्थान सरकार का मॉब लिंचिंग पर कानून बनाने का फैसला स्वागत योग्य है।

संदीप सिंह ने रिपोर्टर को धमकी देते हुए कहा कि ठोक के यहीं बजा दूंगा, मारूंगा तो गिर जाओगे। बता दें कि संदीप सिंह ने रिपोर्टर पर आरोप लगाया कि वो भाजपा की तरफ से सवाल पूछ रहे हैं और उन्हें भाजपा से पैसे मिले हैं।

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि यह असंवैधानिक है. कश्मीर मामले में प्रियंका गांधी का यह पहला बयान है।

सोनभद्र जाने के क्रम में प्रियंका गांधी वाड्रा का ऐसे किया गया स्वागत

ये हाल तब है जब राहुल गांधी और प्रियंका गांधी टि्वटर पर बेहद एक्टिव रहते हैं। हर छोटी-बड़ी घटना पर ट्वीट करते हैं। हाल ही में सोनभद्र की घटना पर प्रियंका गांधी ने जमकर ट्वीट किए थे और योगी सरकार को कटघरे में खड़ा किया था। मगर पिछले 24 घंटे से इन दोनों के ट्विटर अकाउंट पर खामोशी छाई हुई है।