pulwama attack

आतंकी बिलाल अहमद पुलवामा में ही अपनी आरा मिल चलाता है, और इसी से वो अपना घर भी चलाता था। फिर बीच में आतंकियों के संपर्क में आया और आतंकी संगठन जैश के लिए वो काम करने लगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले साल जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में शहीद हुए सीआरपीएफ के 40 जवानों को शुक्रवार को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि ‘भारत उनकी शहादत को कभी नहीं भूलेगा।’

पुलवामा में फरवरी 2019 में हुए आतंकी हमले को लेकर बड़े खुलासे सामने आ रहे हैं। पुलवामा हमले के मुख्य आरोपी आदिल डार के भाई समीर डार ने पूछताछ में कई अहम जानकारियां दी हैं।

जम्मू-कश्मीर में पाकिस्तान की शह पर एक बार फिर पुलवामा जैसा हमला करने की तैयारी थी। आतंकी एक बार फिर पुलवामा जैसा भीषण हमला करने की फिराक में थे। आतंकियों ने सेना के काफिले को निशाना बनाने के लिए अनंतनाग में आईईडी बिछा दी थी।

अब जो बड़ी जानकारी सामने आई है उसके मुताबिक 14 फरवरी को सीआरपीएफ के काफिले पर हुआ हमला खुफिया एजेंसी की विफलता थी। ये बात सीआरपीएफ के आंतरिक रिपोर्ट में कही गई है। यह रिपोर्ट गृह मंत्रालय के बयान के विपरीत है।

रक्षा मंत्रालय के सूत्रों ने गुरुवार को यह जानकारी दी। पाकिस्तानी विमान गिराने के बाद अभिनंदन को पाकिस्तान ने गिरफ्तार कर लिया था, और बाद में रिहा कर दिया था।

मारा गया कमांडर 14 फरवरी को पुलवामा में हुए आतंकवादी हमले का सह-साजिशकर्ता था। जम्मू-कश्मीर पुलिस के एक अधिकारी के मुताबिक अनंतनाग जिले के बिजबेहरा में हुई मुठभेड़ में फैयाज पंजू को उसके साथियों के साथ पुलिस ने ढेर कर दिया।

जम्मू कश्मीर में एक बार फिर आतंकी हमले को अंजाम दिया गया है। पुलवामा में पुलिस थाने पर ग्रेनेड से हमला किया गया है। इस हमले में 8 नागरिक घायल हो गए। रिपोर्ट्स के मुताबिक आतंकियों ने पुलवामा में पुलिस थाने पर ग्रेनेड से हमला किया जो कि पुलिस थाने के बाहर फटा।

सेना ने लिया पुलवामा हमले का बदला, किया जैश कमांडर सज्जाद भट्ट को ढेर

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमला का आज सुरक्षाबलों ने बदला ले लिया है। सेना के सूत्रों के मुताबिक, मंगलवार सुबह अनंतनाग में हुए एनकाउंटर में सुरक्षाबलों ने आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी सज्जाद भट्ट को मार गिराया है।