pulwama attack

PAKISTAN: बालाकोट में हुए एयर स्ट्राइक (Balakot airstrikes) को लेकर पाकिस्तान (pakistan) बार-बार झूठ बोलता रहा है। पाकिस्तान कभी भी इस बात को मानने को तैयार नहीं हुआ की भारत की तरफ से उसकी सीमा में घुसकर किए गए एयरस्ट्राइक में किसी की भी जान गई। पाकिस्तान तो यह कहता रहा कि इस एयरस्ट्राइक में केवल कुछ पेड़ गिरे और भारत उसी को अपनी जीत मन रहा है। लेकिन अब पाकिस्तान के झूठ की पोल उसके ही एक राजनयिक ने एक टीवी डिबेट में खोलकर रख दी है।

Pulwama Attack: पाकिस्तान (Pakistan) के खिलाफ उरी हमले के बाद भारत ने सर्जिकल स्ट्राइक (Surgical Strike) और पुलवामा आतंकी हमले (Pulwama Attack) के बाद एयर स्ट्राइक कर उसके अंदर कितना खौफ भर दिया है यह वहां के सांसदों के संसद में दिए गए बयान से स्पष्ट हो गया है।

Pakistan: ब्लूचिस्तान के सांसदों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) की जय हो के नारे लगाए, जब पाकिस्तान (Pakistan) के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी (Shah Mahmood Qureshi) बुधवार को नेशनल असेंबली में फ्रांसीसी उत्पादों के बहिष्कार करने पर बोल रहे थे। बलूचिस्तान के सांसदों ने संसद में आजादी के नारे भी लगाए।

Pakistan: भारत (India) लगातार इस बात के सबूत दे रहा था कि पुलवामा (Pulwama) में हुए हमले में पाकिस्तान (Pakistan) समर्थित आतंकियों का हाथ है। लेकिन पाकिस्तान की तरफ से लगातार इस बात को दोहराया जा रहा था कि भारत उसको बदनाम करने की कोशिश कर रहा है।

आतंकी बिलाल अहमद पुलवामा में ही अपनी आरा मिल चलाता है, और इसी से वो अपना घर भी चलाता था। फिर बीच में आतंकियों के संपर्क में आया और आतंकी संगठन जैश के लिए वो काम करने लगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले साल जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में शहीद हुए सीआरपीएफ के 40 जवानों को शुक्रवार को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि ‘भारत उनकी शहादत को कभी नहीं भूलेगा।’

पुलवामा में फरवरी 2019 में हुए आतंकी हमले को लेकर बड़े खुलासे सामने आ रहे हैं। पुलवामा हमले के मुख्य आरोपी आदिल डार के भाई समीर डार ने पूछताछ में कई अहम जानकारियां दी हैं।

जम्मू-कश्मीर में पाकिस्तान की शह पर एक बार फिर पुलवामा जैसा हमला करने की तैयारी थी। आतंकी एक बार फिर पुलवामा जैसा भीषण हमला करने की फिराक में थे। आतंकियों ने सेना के काफिले को निशाना बनाने के लिए अनंतनाग में आईईडी बिछा दी थी।

अब जो बड़ी जानकारी सामने आई है उसके मुताबिक 14 फरवरी को सीआरपीएफ के काफिले पर हुआ हमला खुफिया एजेंसी की विफलता थी। ये बात सीआरपीएफ के आंतरिक रिपोर्ट में कही गई है। यह रिपोर्ट गृह मंत्रालय के बयान के विपरीत है।

रक्षा मंत्रालय के सूत्रों ने गुरुवार को यह जानकारी दी। पाकिस्तानी विमान गिराने के बाद अभिनंदन को पाकिस्तान ने गिरफ्तार कर लिया था, और बाद में रिहा कर दिया था।