Rafale Aircraft

Rafale Jet : फ्रांस (France) ने भारत (India) को राफेल लड़ाकू विमानों (Rafale Jet) के अगले बैच को सौंप दिया है। इस बैच में शामिल पांचों विमान अभी फ्रांस की धरती पर ही मौजूद हैं।

एक तरफ जहां सीमा विवाद को लेकर भारत और चीन (India & China) के बीच तनाव लगातार बढ़ता जा रहा है। इसी बीच भारत को कल यानी कि 10 सितंबर से लड़ाकू विमान राफेल (Rafale Jet) की ताकत मिलने जा रही है।

भारत को अभी तक तीन राफेल विमान फ्रांस की तरफ से मिल चुके हैं। ये खबर पाकिस्तान के होश उड़ा देगी।  रक्षा मंत्रालय के मुताबिक अब तक तीन राफेल विमान भारत को हैंड ओवर किए जा चुके हैं।

इससे पहले राहुल गांधी फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मेक्रां के साथ बातचीत की झूठी कहानी भी गढ़ चुके थे। राहुल गांधी ने कहा था कि मोदी सरकार गोपनीयता की आड़ लेकर राफेल विमान सौदे की कीमत नहीं बता रही है

भारत के मीडियम मल्टी रोल कॉम्बैट एयरक्राफ्ट के सौदे के लिए दसॉ ने अपने राफेल जेट का 28 अगस्त, 2007 को दावा किया था। उस समय दसॉ ने भारत में निजी पार्टनरशिप के लिए टाटा ग्रुप के साथ बातचीत शुरू की थी।

राहुल गांधी ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस जोसेफ ने फैसला सुनाते हुए राफेल घोटाले की जांच के दरवाजे खोल दिए हैं। लिहाजा अब इस मामले की जांच पूरी गंभीरता से होनी चाहिए।

मोदी सरकार ने पिछली यूपीए सरकार की 126 राफेल खरीदने की प्रतिबद्धता से पीछे हटकर कहा कि डबल इंजन वाले विमान बहुत महंगे होंगे और यह समझौता भारत और फ्रांस के बीच लगभग एक दशक लंबी वार्ता के बाद हुआ।

राफेल फ्रांस की कंपनी दसॉल्ट एविएशन द्वारा बनाया गया एक लड़ाकू विमान है। दो इंजन राफेल लड़ाकू जेट को शुरुआत से ही एयर-टू-एयर और एयर-टू-ग्राउंड अटैक के लिए बहु-भूमिका सेनानी के रूप में डिजाइन किया गया है, परमाणु रूप से सक्षम है।