rafale deal

अवमानना मामले में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सुप्रीम कोर्ट से बिना शर्त माफी मांग ली है। इससे पहले राहुल ने सिर्फ खेद जताया था। राहुल गांधी ने कहा कि गलती से 'चौकीदार चोर है' नारा कोर्ट के आदेश के साथ मिलाकर बोल दिया था।

सर्वोच्च न्यायालय ने मंगलवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ आपराधिक अवमानना का नोटिस जारी किया। अदालत ने मामले को बंद करने की याचिका को खारिज कर दिया। अदालत 30 अप्रैल को राफेल समीक्षा के साथ इसकी भी सुनवाई करेगी।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राफेल मामले पर सुप्रीम कोर्ट में सोमवार को अपना जवाब दाखिल कर दिया है। राहुल गांधी ने कोर्ट में कहा कि उन्होंने चुनाव प्रचार के दौरान उत्तेजना में ऐसा बयान दिया था, जिसके लिए उन्हें खेद है।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी आज चुनाव प्रचार के लिए तमिलनाडु के कृष्णागिरी पहुंची जहां कांग्रेस अध्यक्ष जनसभा को संबोधित किया। इस दौरान राहुल ने केंद्र सरकार और उनके सहयोगी संगठन पर जमकर निशाना साधा।

बसपा सुप्रीमो मायावती ने भी निशाना साधा है और कहा है कि पीएम नरेंद्र मोदी को देश से माफी मांगनी चाहिए। साथ ही मायावतीने रक्षा मंत्री का इस्तीफा भी मांगा है।

सुप्रीम कोर्ट बुधवार को राफेल से जुड़े सरकार के उस दावे पर अपना फैसला सुनाएगा, जिसमें सरकार ने कहा है कि 14 दिसंबर, 2018 के न्यायालय के फैसले की समीक्षा के लिए याचिकाकर्ताओं द्वारा जमा किए गए दस्तावेजों पर उसका विशेषाधिकार है।

राफेल सौदे को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने फिर एक बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर बड़ा हमला बोला है। राहुल गांधी ने ऐलान किया कि अगर चुनाव बाद कांग्रेस की सरकार आई, तो वो राफेल सौदे की जांच कराएंगे और चौकीदार जेल में होगा। राहुल गांधी ने महाराष्ट्र के नागपुर में गुरुवार को एक चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए ये बातें कहीं।

अटॉर्नी जनरल (सरकार के वकील) ने कोर्ट में कहा कि इस मामले में सरकार से सीएजी रिपोर्ट दाखिल करने में चूक हुई है। उन्होंने कहा कि राफ़ेल सौदे की फ़ाइल से लीक हुए कागजों में विमान की कीमत बताई गई है। राफेल विमान की कीमत बताया जाना सौदे के शर्तों का उल्लंघन है।

राफेल डील को लेकर राजनीतिक अरोप-प्रत्‍यारोप के बीच अटॉर्नी जनरल के के वेणुगोपाल ने शुक्रवार को कहा कि इससे संबंधित दस्तावेज रक्षा मंत्रालय से चुराए नहीं गए और सुप्रीम कोर्ट में बुधवार को उन्‍होंने जो कुछ भी कहा था, उसका मतलब यह था कि याचिकाकर्ताओं ने आवेदन में उन 'मूल कागजात की फोटोकॉपी' का इस्तेमाल किया, जिसे सरकार ने गोपनीय माना है।

लोकसभा चुनाव से पहले राफेल का मुद्दा एक बार फिर गरमाने लगा है। इसी को लेकर बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने गुरुवार को मोदी सरकार पर निशाना साधा है।