Rajnath Singh

पीएम मोदी अपने ही सांसदों की जिम्मेदारी तय करने से नहीं चूकते हैं। उन्होंने अपने सभी सांसदों को सदन में उपस्थित रहने के लिए कहा है। पीएम ने उन सांसदों के प्रति नाखुशी जताई है जो बार-बार कहने के बावजूद सदन की बैठकों से गायब रहते हैं

बयान में कहा गया है, "हिमस्खलन की चपेट में आए जवानों को बचाने के लिए तुरंत सेना के हेलीकॉप्र्ट्स को मौके पर भेजा गया। हालांकि, मेडिकल टीम के पूरे प्रयासों के बावजूद दो जवानों को नहीं बचाया जा सका।"

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि पाकिस्तान आतंकवाद के सहारे भारत से छद्म युद्ध में लिप्त है, लेकिन आज मैं यह पूरी जिम्मेदारी के साथ कहता हूं कि वह इस युद्ध में कभी भी जीत नहीं सकता।

राजनाथ सिंह ने भी लोकसभा में प्रज्ञा के बयान की निंदा करते हुए कहा, "नाथूराम गोडसे को देशभक्त कहे जाने की बात तो दूर, हम उन्हें देशभक्त मानने की सोच की ही निंदा करते हैं। महात्मा गांधी हम लोगों के आदर्श हैं। वह पहले भी हमारे मार्गदर्शक थे और भविष्य में भी मार्गदर्शक रहेंगे। उनकी विचारधारा उस समय भी प्रासंगिक थी, आज भी है और आगे भी रहेगी।"

लोकसभा में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में आतंकी घटना लगभग ना के बराबर हो गई है।  लोकसभा में सेना में भर्ती पर पूछे गए एक सवाल के जवाब में रक्षा मंत्री  ने कहा कि देश में 73 सेना भर्ती केंद्र हैं। प्रत्येक भर्ती केंद्र के साथ एक निश्चित संख्या में जिले जुड़े होते हैं।

भोपाल से भाजपा सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को रक्षा मंत्रालय की संसदीय सलाहकार समिति के लिए नामित किए जाने पर कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार पर हमला बोलते हुए गुरुवार को कहा कि यह विडंबना है कि इस तरह के सदस्य को उन्होंने जगह दी, जबकि उनके पास कई साफ छवि वाले नेता हैं। कांग्रेस सचिव प्रणव झा ने आईएएनएस से कहा, "यह विडंबना है कि ऐसे इंसान को सरकार ने रक्षा समिति में जगह दी है।"

भाजपा सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को रक्षा मंत्रालय की कमेटी में बड़ी जिम्मेदारी मिली है। साध्वी प्रज्ञा को रक्षा मंत्रालय की कमेटी का सदस्य बनाया गया है, इस कमेटी की अगुवाई रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह कर रहे हैं।

सिंगापुर में भारतीय समुदाय को संबोधित करते हुए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह पाकिस्तान पर जमकर बरसे। राजनाथ सिंह ने पाकिस्‍तान को एक बार फिर दुनिया के सामने बेनकाब किया।

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह को मंगलवार को सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने सियाचिन ग्लेशियर त्रासदी की जमीनी जानकारी दी। सूत्रों ने कहा कि सिंह इस समय सिंगापुर दौरे पर हैं, और उन्होंने त्रासदी के बारे में जानने के लिए जनरल रावत को फोन किया।

राजनाथ सिंह 14 और 15 नवंबर को अरुणाचल प्रदेश के दौरे पर थे। यहां पर रक्षा मंत्री 'मैत्री दिवस' कार्यक्रम में शिरकत करने आए थे।