Rajnath Singh

इस कार्यक्रम में भारत सरकार के रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह कृष्ण गोपाल और संत रमेश भाई ओझा ने एकल अभियान द्वारा निस्वार्थ भाव से आदिवासी, वनक्षेत्र और अतिग्रामीण अंचल के 40 करोड़ से ज्यादा लोगों की सेवा के कार्यों की सराहना की।

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि, भारत को विश्वगुरु बनाना है तो हर व्यक्ति को शिक्षित और संस्कारी होना जरुरी है, और यही कार्य एकल अभियान कर रहा है।

पूर्व विदेश मंत्री और भारतीय जनता पार्टी की दिगंवत नेता सुषमा स्वराज का आज 68वां जन्मदिन है। जन्मदिन के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह समेत कई दिग्गजों ने उन्हें याद किया।

रक्षामंत्री द्वारा जारी कार्यक्रम के अनुसार, डिफेंस एक्सपो का मुख्य आयोजन आज से वृंदावन सेक्टर-15 में शुरू हो रहा है जो नौ फरवरी तक चलेगा। वृंदावन में दर्शकों की प्रवेश सिर्फ आठ व नौ फरवरी को होगी। यहां एयरफोर्स व सेना की ओर से लाइव डेमो की प्रस्तुतियां होंगी। जबकि गोमती रिवर फ्रंट पर दर्शकों के लिए 5 से 9 फरवरी तक नेवल के लाइव शो आयोजित होंगे।

संजीव बालियान ने कहा कि पाकिस्तान के जो शरणार्थी यहां आए हुए हैं उनसे मेरी बात हुई तो मुझे पता चला कि वहां उन पर कैसे जुल्म हुए। बेटियों बहनों को जबरन उठा लिया जाता है।

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार को कहा कि चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ के नए पद के लिए 20 वर्षों से चर्चा चल रही थी, मगर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसके लिए बिना समय बर्बाद किए तुरंत स्वीकृति दे दी।

राजनाथ ने व्यापारियों से कहा, "मैं आपको आश्वासन देता हूं कि वैश्विक आर्थिक मंदी के कारण जो भी समस्याएं सामने आ रही हैं, हम जल्द उन पर विजय प्राप्त कर लेंगे।"

देश की रक्षा और हर समय देश के नागरिकों की मदद के लिए तत्पर रहने वाली भारतीय सेना ने मदद की एक नई मिसाल पेश की। हावड़ा एक्सप्रेस में एक गर्भवती महिला को अचानक प्रसव पीड़ा हुई, जिसकी मदद में फौरन सेना की दो डॉक्टर आगे आईं और उसकी डिलीवरी कराई।

पीएम मोदी अपने ही सांसदों की जिम्मेदारी तय करने से नहीं चूकते हैं। उन्होंने अपने सभी सांसदों को सदन में उपस्थित रहने के लिए कहा है। पीएम ने उन सांसदों के प्रति नाखुशी जताई है जो बार-बार कहने के बावजूद सदन की बैठकों से गायब रहते हैं

बयान में कहा गया है, "हिमस्खलन की चपेट में आए जवानों को बचाने के लिए तुरंत सेना के हेलीकॉप्र्ट्स को मौके पर भेजा गया। हालांकि, मेडिकल टीम के पूरे प्रयासों के बावजूद दो जवानों को नहीं बचाया जा सका।"