Rakesh Singh

इस आशय का फैसला सोमवार को विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने सुनाया। उन्होंने उत्तर प्रदेश कांग्रेस के दोनों बागी विधायकों अदिति सिंह व राकेश सिंह की सदस्यता रद्द करने संबंधी याचिका को खारिज कर दिया।

सूत्रों के अनुसार, दोनों विधायक निष्कासित होने का इंतजार कर रहे हैं, ताकि उनकी सदस्यता रद्द न की जा सके। कांग्रेस विधायक फिलहाल इस्तीफा देकर अपनी-अपनी सीटों से दोबारा चुनाव लड़ने के लिए उत्सुक नहीं दिख रहे हैं।

इस घटना से इलाके में सनसनी फैल गई, सूचना मिलने पर मौके पर पहुंचे पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच-पड़ताल शुरू कर दी है। पुलिस के मुताबिक, मृतक की पहचान पचखुरा गांव निवासी राकेश सिंह (35) के रूप में की गई है।

दोनों नेताओं में फाउंडेशन स्टोन पर नाम लिखवाने को लेकर मारपीट हुई। जिसके बाद मामले को सख्ती से लेते हुए भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेंद्रनाथ पांडेय ने सांसद शरद त्रिपाठी और विधायक राकेश सिंह को नोटिस जारी कर लखनऊ तलब किया है।

यूपी के संत कबीर नगर जिले में एक मीटिंग के दौरान बीजेपी सांसद शरद त्रिपाठी ने अपनी ही पार्टी के विधायक राकेश सिंह पर जूतों की बारिश कर दी। दोनों के बीच बहस शुरू हुई लेकिन देखते-देखते यह बहस हाथापाई में तब्दील हो गई। विधायक और सांसद किसी मुद्दे को लेकर आपस में भिड़ गए। इसी दौरान बीजेपी सांसद शरद त्रिपाठी ने अपने पैर से जूता निकाला और विधायक को पीटना शुरू कर दिया।

भोपाल। मध्य प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रदेशाध्यक्ष पद पर बदलाव कर दिया...