ram janmabhoomi

Ayodhya: भगवान राम की नगरी अयोध्या (Ayodhya) को दुनिया में बेहतरीन बनाने के उद्देश्य से कई काम किए जा रहे हैं। इसके साथ ही इस बात पर भी ध्यान दिया जा रहा है कि साफ-सफाई के मामले हो या सुविधा के मानक अयोध्या को सर्वोत्तम बनाने की कवायद शुरू हो गई है। योगी सरकार (Yogi Adityanath) की तरफ से इसके लिए IIM इंदौर का चयन किया गया है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने कहा है कि अयोध्या (Ayodhya) को सोलर सिटी (Solar City) के रूप में विकसित किए जाने की आवश्यकता है।

अमेरिका की राजधानी न्यूयॉर्क के टाइम्स स्क्वायर भी आज राममय दिखा। यहां राम मंदिर की तस्वीर का डिजिटल बोर्ड के जरिए प्रदर्शन किया गया।

अदालत में राम मंदिर के लिए 50 साल तक मुकदमा लड़ने वाले स्वामी रामचंद्र दास परमहंस की जैसे अंतिम इच्छा पूरी हो रही है।

पांच अगस्त को अयोध्या में होने वाले राममंदिर भूमि पूजन से एक दिन पहले रामनगरी में महादीवाली मनाई जा रही है। सबसे पहले रामजन्मभूमि पर दीपक जलाया गया। इसके बाद पूरी राम नगरी दीपकों की रोशनी से नहाई है।

भूमि पूजन को लेकर साध्वी ऋतंभरा ने कहा, करीब 500 साल के संघर्ष के बाद स्वाभिमान की जो पुन: प्रतिष्ठा हुई है उसका आनंद अपार है।

पहले राम मंदिर के मॉडल में दो गुंबद और शिखर बने थे। अब इसमें गुंबदों की संख्या पांच कर दी गई है। शिखर की ऊंचाई 161 फीट की गई है।

श्री राम जन्मभूमि पर हाल में जारी हुई एक किताब में वर्ष 1949 में हुई घटनाओं को राम मंदिर केस का टर्निंग पॉइंट बताया गया है।

उत्तर प्रदेश के अयोध्या में सरयू नदी के तट पर संध्या आरती की गई है। पुजारियों ने सोमवार शाम यह आरती की।

भगवान राम और अयोध्या पर नेपाल के प्रधानमंत्री ओपी शर्मा ओली के बयान को लेकर विदेश मंत्री प्रदीप ज्ञवाली बचाव की मुद्रा में आ गए हैं।