Ram Mandir

Ayodhya: बता दें कि स्वीकार करने, अपनाने या अस्वीकार करने के कदम को ट्रस्ट(Ram Mandir Trust) ने अपने पास रखा है। कोई भी व्यक्ति, विशेषज्ञ, आर्किटेक्ट या डिजाइनर 25 नवंबर 2020 तक ईमेल द्वारा उसी के संबंध में अपने सुझाव प्रस्तुत कर सकता है।

अयोध्या के सर्किट हाउस में शुक्रवार को राममंदिर (Ram Mandir) निर्माण समिति की बैठक हुई। बैठक की अध्यक्षता समिति के चेयरमैन नृपेंद्र मिश्र ने की। बैठक को लेकर खास बात ये रही कि टाटा कंस्ट्रक्शन (Tata Construction) के इंजीनियर भी इसमें शामिल हुए।

Babari Masjid: गौरतलब है कि इस मामले में भाजपा(BJP), शिवसेना(Shivsenna) व विहिप(VHP) के वरिष्ठ नेताओं के साथ साधु-संत भी आरोपित हैं। 28 साल बाद इस मामले में कोर्ट अपना फैसला सुना रही है।

Ayodhya : बाबरी मस्जिद(Babari Masjid) को राम मंदिर(Ram Mandir) आंदोलन के बाद 6 दिसंबर 1992 को अयोध्या(Ayodhya) में जुटे लाखों कारसेवकों ने ढहा दिया था। बाबरी मस्जिद स्ट्रक्चर गिराने के बाद उसी स्थान पर एक अस्थाई राम मंदिर का निर्माण कर दिया गया और पूजा पाठ शुरू कर दी गई।

Ram Mandir Ayodhya: श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट (Shri Ram Janambhumi Teerth Kshetra Trust) के सदस्य अनिल मिश्रा (Anil Mishra) ने राम मंदिर (Ram Mandir) निर्माण को लेकर बड़ी जानकारी दी है।

अयोध्या(Ayodhya) में मंदिर निर्माण(Ram Mandir) का कार्य आगे बढ़ रहा है। शुक्रवार को परीक्षण के लिए भूमि के नीचे सौ फुट गहराई तक का पहला स्तम्भ तैयार हो चुका है।

अयोध्या(Ayodhya) में एक अधिकारी के मुताबिक, आने वालों को बेहतर सुविधाएं मिलें, उनके दिलो-दिमाग पर अयोध्या की अच्छी और अमिट छवि बने, इसकी वह औरों से चर्चा करें ताकि वह भी अयोध्या आएं, इस सबके लिए अयोध्या को तैयार किया जा रहा है।

अयोध्या विकास प्राधिकरण (Ayodhya Development Authority) ने राम मंदिर (Ram Mandir) निर्माण  के लिए नक्शे को बुधवार को हुई बैठक में सर्वसम्मति से पास कर दिया।

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने मोदी सरकार की तारीफ करते हुए विपक्ष पर निशाना साधा है। गोरखपुर (Gorakhpur) के गोरक्षनाथ मंदिर (Gorakshnath Temple) में आयोजित सेमिनार में उन्होंने ये बात कही।

बता दें कि नींव खोदाई के लिए रिग नाम की मशीन बाहर से लाई जा रही है, जिससे 40 से 60 मीटर नीचे तक नींव खोदी जाएगी। इसके लिए विशेषज्ञों का दल अयोध्या(Ayodhya) पहुंच चुका है।