Ram Mandir Bhoomi Poojan

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान रेटिंग स्टार के रूप में उभरे हैं। नीलसन एंड ब्रॉडकास्ट ऑडियंस काउंसिल (बीएआरसी) के प्रजेंटेशन में स्वतंत्रता दिवस (Independence Day) के दिन मोदी के कार्यक्रम को टेलीविजन पर 4.64 बिलियन यानि कि 4.64 अरब मिनट तक देखे जाने का रिकॉर्ड बना।

दरअसल, इस समय भारत और नेपाल के रिश्तों में थोड़ी खटास है। फिर भी बड़प्पन दिखाते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने भूमि पूजन के समय भारत और नेपाल के सांस्कृतिक संबंधों की सकारात्मक चर्चा की। नेपाली आचार्य पंडित दुर्गा प्रसाद गौतम, भूमि पूजन अनुष्ठान में मोदी को सहयोग कर रहे थे।

गुरुवार को इन परिवारों ने भगवान राम और हनुमान जी की तस्वीर के समक्ष पूजा-अर्चना की। हिन्‍दू धर्म अपनाने वाले परिवारों के बुजुर्गों का कहना है कि उनके पूर्वज हिन्‍दू थे।

अमेरिका की राजधानी न्यूयॉर्क के टाइम्स स्क्वायर भी आज राममय दिखा। यहां राम मंदिर की तस्वीर का डिजिटल बोर्ड के जरिए प्रदर्शन किया गया।

अदालत में राम मंदिर के लिए 50 साल तक मुकदमा लड़ने वाले स्वामी रामचंद्र दास परमहंस की जैसे अंतिम इच्छा पूरी हो रही है।

उन्होंने लिखा, 'आज का दिन भारत के लिए एक ऐतिहासिक व गौरवपूर्ण दिन है। प्रभु श्री राम की जन्मभूमि पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा भव्य राम मंदिर का भूमि पूजन व शिलान्यास किया गया, जिसने महान भारतीय संस्कृति व सभ्यता के इतिहास का एक स्वर्णिम अध्याय लिखा है और एक नए युग की शुरुआत की है।'

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने एक बार फिर अयोध्या में राम मंदिर के शिलान्यास के मुहूर्त को लेकर सवाल उठाए है।

पहले राम मंदिर के मॉडल में दो गुंबद और शिखर बने थे। अब इसमें गुंबदों की संख्या पांच कर दी गई है। शिखर की ऊंचाई 161 फीट की गई है।

राम जन्म भूमि भूजन कार्यक्रम को लेकर रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने सोमवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की।

शिवराज सिंह चौहान ने कहा, उच्चतम न्यायालय में (कांग्रेस ने) हलफनामा देकर कहा कि भगवान राम कभी पैदा ही नहीं हुए, यह एक कोरी कल्पना है।