Ramadan

ईद-उल-फितर का त्योहार रमजान के महीने के पूरा होने पर 30 रोजे रखने के बाद चांद देखकर मनाया जाता है। दुनियाभर में मुस्लिम इस त्योहार को पूरे जोश और उल्लास के साथ मनाते हैं।

कोरोना महामारी के बीच रमजान का पवित्र महीना शुरू हो चुका है। लोगों को घरों में रहकर ही इबादत करनी होगी। पोषण विशेषज्ञ का कहना है कि रमजान में सहरी और इफ्तार के वक्त एहतियात बरतना जरूरी है।

समुदाय की भागीदारी और पहल के लिए प्रशंसा और आभार ने पीएम नरेंद्र मोदी के संबोधन को चिह्नित किया। डॉक्टरों, नर्सों, पैरामेडिक्स सहित अग्रिम पंक्ति के देखभालकर्ताओं द्वारा किए गए असाधारण कार्यों पर प्रकाश डालते हुए, उन्होंने शिक्षण समुदाय के कार्य की भी जमकर सराहना की।

प्रधानमंत्री इमरान खान ने अपनी सरकार के इस फैसले का बचाव करते हुए कहा है कि वह लोगों को मस्जिदों में जाने से नहीं रोक सकते।

चीन का शिनजियांग क्षेत्र कभी हेयितका मस्जिद और काफी यहां की खुशहाली के लिए जाना जाता था। पर अब ये जगह वीरान हो चुकी है। जहां एक ओर दुनिया भर के मुसलमानों ने खुशी के साथ ईद मनाई। इससे अलग शिनजियांग में दर्जनों मस्जिदों को ढहाए जाने के कारण उइगुर और अन्य अल्पसंख्यक आबादी सुरक्षाकर्मियों की भारी मौजूदगी से डरे हुए हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, रमजान खत्म होते ही सऊदी अरब अपने तीन प्रमुख स्कॉलर को मौत की सजा दे देगा। इनमें सलमान अल अवदाह अंतरराष्ट्रीय प्रसिद्धि पाने वाले सुधारवादी हैं, अवद अल करनी उपदेशक, अकेडमिक और लेखक हैं, जबकि अली अल ओमारी जाने माने ब्रॉडकास्टर हैं। इन पर कथित तौर से आतंकवाद के आरोप हैं।

लोकसभा चुनाव के बीच में रमजान पड़ने पर लखनऊ के मौलानाओं ने ऐतराज जताते हुए आयोग से तिथियों में फेरबदल करने की मांग की है। ईदगाह इमाम मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली ने नाराजगी जताई है। उन्होंने चुनाव आयोग से मुसलमानों की भावना का खयाल रखने और चुनाव तिथि रमजान माह से पहले या बाद में करने की मांग की है।

मिर्जापुर। रमजान के पवित्र महीने में मुस्लिम समाज के लोग 30 दिन तक रोजे रखते हैं। इस दौरान रोजा रखने...