rss

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) ने भी पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी (Former President Pranab Mukherjee) के निधन पर शोक जताया है। आरएसएस ने उन्हें अपना मार्गदर्शक बताते हुए निधन को संगठन के लिए अपूरणीय क्षति बताया है।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) ने पर्यावरण संरक्षण की दिशा में चेतना फैलाने के लिए अनोखे आयोजन की तैयारी की है। 30 अगस्त को दुनिया के 25 देशों में एक करोड़ लोग पेड़ों की पूजा करते हुए आरती उतारेंगे।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के मुखपत्र 'पांचजन्य' ने बॉलीवुड अभिनेता आमिर खान (Aamir Khan) की चीनी स्मार्टफोन निर्माता कंपनी वीवो का ब्रांड एंबेसडर बनाए जाने और हाल ही में तुर्की यात्रा (Turkey trip) को लेकर उनकी खूब खिंचाई की है।

राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के इन आरोपों का जवाब दिया कानून मंत्री (Law Minister) रविशंकर प्रसाद (Ravishankar Prasad) ने। रविशंकर प्रसाद ने लिखा, "ऐसे लोग जो अपने ही पार्टी के लोगों पर कोई प्रभाव नहीं डाल पाते, कह रहे हैं कि पूरी दुनिया बीजेपी और RSS के कंट्रोल में है।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Congress Leader Rahul Gandhi) ने रविवार को भारतीय जनता पार्टी (BJP) और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) पर हमला बोला है।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) की 15 अगस्त से होने वाली वार्षिक बैठक में हिस्सा लेने के लिए सर कार्यवाह सुरेश भैय्याजी जोशी, सहकार्यवाह डॉ. कृष्णगोपाल और सह सरकार्यवाहक दत्रात्रेय होसबोले शुक्रवार की देर रात वाराणसी (Varanasi) पहुंचे।

पिछले एक वर्ष के भीतर यह चौथा बड़ा मौका है, जब आरएसएस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व की खुलकर तारीफ की है। अब राम मंदिर निर्माण की घड़ी करीब आने पर आरएसएस के सरकार्यवाह (महासचिव) सुरेश भैय्याजी जोशी के आए ताजा बयान से संकेत निकल रहे हैं।

उन्होंने शनिवार को कहा, "हिंदू समाज की आंतरिक शक्ति पर पूरा भरोसा है। जिस तरह से मंदिर निर्माण की अब तक सारी बाधाएं दूर हुईं हैं, उसी तरह से आगे भी कोई बाधा नहीं खड़ी होगी। हिंदू समाज सामथ्र्यवान और दानशील है। देश और समाज के संकल्प से राम मंदिर बनकर तैयार होगा।"

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) से जुड़कर आर्थिक क्षेत्र में काम करने वाले संगठन स्वदेशी जागरण मंच ने स्वदेशी और स्वावलंबी भारत के समर्थन में इन दिनों डिजिटल हस्ताक्षर अभियान शुरू किया है। इस अभियान को स्वदेशी स्वावलंबन अभियान नाम दिया गया है।

भारत ने भी साफ कर दिया है कि अगर कूटनीतिक तौर पर कोई रास्ता नहीं निकलेगा तो चीन की हरकतों का जवाब दिया जाएगा। लेकिन भारत में कुछ ऐसे लोग भी हैं जो अपने अंदाज में इस मुद्दे पर सियासत कर रहे हैं।