Salman Khurshid

30 मई 2019 को जैसे ही नरेंद्र मोदी सरकार 2.0 का गठन हुआ। उसके बाद से ही सरकार की तरफ से जनहित में कई फैसले बड़ी तेजी से लिए गए।

अब एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है इस वीडियो में कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद नजर आ रहे हैं।

नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) पर मोदी सरकार को घेरने की कोशिश में जुटी कांग्रेस को अब एक के बाद एक अपनी ही पार्टी के नेता झटका दे रहे है। एक ओर कांग्रेस पार्टी नागरिकता कानून का विरोध कर रही है, जबकि कांग्रेस के ही कुछ दिग्गज नेता सीएए का समर्थन कर रहे हैं।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद ने आयुष्मान भारत योजना के बहाने मोदी सरकार की जमकर तारीफ की। उन्होंने लखनऊ में वित्त आयोग की बैठक के दौरान कहा कि 'यह एक अच्छी योजना है, जिसे सबका सहयोग मिलना चाहिए।'

पार्टी की मौजूदा हालत को देखते हुए सिंधिया का मानना है कि कांग्रेस को आत्म अवलोकन करने की जरूरत है। उन्होंने सलाह देते हुए कहा कि मौजूदा समय में कांग्रेस की जो स्थिति है उसका जायजा लिया जाना जरूरी है, ताकि कांग्रेस को आगे बढ़ाया जा सके।

राशिद अल्वी ने कहा, 'हर दूसरे कांग्रेस नेता अलग राग अलाप रहे हैं, यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण स्थिति है. घर को आग लग गई, घर के चिराग से।' राहुल गांधी के इस्तीफे पर राशिद अल्वी ने कहा कि राहुल गलत नहीं थे, उन्हें कुछ नेताओं का समर्थन नहीं मिला

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद ने अपनी ही पार्टी की आलोचना करते हुए बड़ा बयान दिया है। सलमान खुर्शीद ने कहा कि कांग्रेस की जो स्थिति है, उसमें महाराष्ट्र और हरियाणा चुनाव जीतने की संभावना नहीं है।

उन्होंने कहा कि, दिल्ली में लोग रहते हैं, यहां काम करते हैं। लेकिन उनके मन में मॉब लिंचिंग जैसे डर का कोई माहौल नहीं है। हालांकि, उन्होंने छोटे शहरों और गांवों में भीड़ की हिंसा का डर होने की बात जरुर कही है।

सलमान खुर्शिद ने स्वीकार किया की लोकसभा चुनावों में मोदी की सुनामी चली थी। उन्होंने कहा कि, 'आज तो हम यही जानते हैं कि चुनाव हुआ और चुनाव में पीएम मोदी की लोकप्रियता इतनी थी कि उसके सामने कोई खड़ा नहीं हो पाया'।

लोकसभा चुनाव 2019 में कांग्रेस पार्टी की करारी हार के बाद पूर्व विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद को बड़ा झटका लगा है। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता के सामने कोई खड़ा नहीं हो पाया। पीएम मोदी की सुनामी में सब कुछ बह गया।