Sanjay Hegde

सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त किए गए वार्ताकारों में से एक वजाहत हबीबुल्ला ने शाहीन बाग में सड़क अवरोध पर एक हलफनामा दायर किया है। उन्होंने हलफनामे में कहा कि पुलिस ने शाहीन बाग के आसपास पांच रास्तों को बंद कर रखा है।

प्रदर्शनकारियों से बातचीत करते हुए वार्ताकार साधना रामचंद्रन ने कहा कि आप ने हमे बुलाया था, इसलिए हम आए हैं। आप लोगों के जो मुद्दे हैं वो सुप्रीम कोर्ट पहुंचा चुका है। आपके सवाल सुप्रीम कोर्ट के सामने हैं। सुप्रीम कोर्ट में सीएए पर सुनवाई होनी है।

पिछले 67 दिनों से चल रहे इस धरने को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने साफ किया है कि देश में प्रोटेस्ट का अधिकार सबको है लेकिन सड़क बंद करने का अधिकार किसी को नहीं है।

अदालत ने प्रदर्शनकारियों से बातचीत करने के लिए सोमवार को वरिष्ठ वकील संजय हेगड़े, साधना रामचंद्रन और पूर्व मुख्य सूचना आयुक्त वजाहत हबीबुल्लाह को वार्ताकार नियुक्त किया था।

शाहीन बाग में नागरिकता संशोधन कानून(सीएए) के खिलाफ करीबन दो महीने से प्रदर्शन चल रहा है और इससे लोगों को काफी दिक्कतों का सामना भी करना पड़ रहा है। सुप्रीम कोर्ट ने इस मसले को सुलझाने के लिए तीन वार्ताकार नियुक्त कर दिए हैं, और इन वार्ताकारों को कोर्ट का आदेश लिखित में प्राप्त होने का इंतजार है।