Sanjay Raut

भाजपा के एक वरिष्ठ नेता ने यहां शनिवार को कहा कि अगर शिवसेना को अपने सहयोगी कांग्रेस व राकांपा के साथ नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) को लागू करने में समस्याओं का सामना करना पड़ा, तो वह महाराष्ट्र में शिवसेना के साथ कोई भी राजनीतिक समझौता करने के लिए तैयार है।

शिवसेना नेता संजय राउत ने शनिवार को कहा कि वीर सावरकर न केवल महाराष्ट्र बल्कि देश के भी देवता हैं।

संजय राउत बोले कि शिवसेना पहले से ही ये बात कहती आ रही है कि घुसपैठियों को बाहर निकालना चाहिए, पाकिस्तान-बांग्लादेश-अफगानिस्तान से जो हिंदू-सिख-बौद्ध-जैन आ रहे हैं उनके मसले पर वह केंद्र सरकार के साथ है।

बता दें कि महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव के दौरान फडणवीस ने दावा किया था कि राज्य में विरोधी पक्ष नहीं रहेगा। वहीं, विधानसभा चुनाव के बाद राज्य में शिवसेना के नेतृत्व में सरकार बन गई है और पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस अब विरोधी दल के नेता चुने गए हैं।

महाराष्ट्र में सरकार बदल गई है और अब राज्य में ठाकरे राज की शुरुआत हो रही है। उद्धव ठाकरे गुरुवार को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने जा रहे हैं, इस बीच संजय राउत ने एक बार फिर भाजपा पर निशाना साधा है। इसके साथ ही महाराष्ट्र की नई सरकार में एनसीपी नेता अजित पवार क्या किरदार होगा, इसको लेकर शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि वह एक बड़ी भूमिका में होंगे।

महाराष्ट्र में शिवसेना-राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी(राकांपा)-कांग्रेस की सरकार बनने की प्रक्रिया अंतिम चरण में पहुंच गई है। तीनों राजनीतिक पार्टियों की विचरधारा अलग-अलग होने के चलते इस गठबंधन की चर्चा ने ही सभी को आश्चर्यचकित कर दिया।

शिवसेना सांसद संजय राउत ने गुरुवार को कहा कि भारत और उसके संविधान की बुनियाद धर्मनिरपेक्ष शब्द पर टिकी है। इसके साथ ही उन्होंने आश्वासन दिया कि महाराष्ट्र में सरकार गठन की प्रक्रिया 10 दिनों में पूरी हो जाएगी।

उन्‍होंने एक बार फिर दोहराया कि राज्‍य में मुख्‍यमंत्री शिवसेना का ही होगा। उन्‍होंने कहा कि जनता यही चाहती है कि पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे ही राज्‍य के मुख्‍यमंत्री बनें। उन्‍होंने दावा किया कि 1 दिसंबर से पहले सरकार गठन को लेकर सभी बाधाएं खत्‍म कर दी जाएंगी।

महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर जारी सस्पेंस के बीच शिवसेना सांसद संजय राउत का बयान सामने आया है। संजय राउत ने कहा कि अगले पांच-छह दिनों में महाराष्ट्र में मजबूत सरकार का गठन किया जाएगा।

शरद पवार को लेकर उन्होंने कहा कि शरद पवार को समझने में कई जन्म लग जाएंगे। राउत ने कहा कि हम किसानों के मसले पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करेंगे, ये मुलाकात शरद पवार की अगुवाई में ही होगी।