Serum Institute of India

Coronavirus Vaccine: देश में कोरोनावायरस (Coronavirus) महामारी का प्रकोप लगातार बढ़ता जा रहा है। हर रोज हजारों लोग इस संक्रमण की चपेट में आ रहे हैं और अपनी जान गंवा रहे हैं। हालांकि कोरोना की वैक्सीन को तैयार करने की भी कोशिशें लगातार जारी हैं।

देश में कोरोनावायरस (Coronavirus) का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है। भारत में कोरोना से 31 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हैं वहीं, अब तक 57 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है।

देश में कोरोनावायरस (Coronavirus) का संक्रमण तेजी से बढ़ता जा रहा है। ऐसे में दुनिया भर में सैकड़ों देश कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) की कवायद कर रहे हैं।

यह कोरोना वैक्सीन Oxford university के द्वारा तैयार की जा रही है जिसके साथ सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (Serum Institute of india) ने भी सहयोग किया है।

सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने कोरोना वायरस वैक्सीन के 10 करोड़ खुराक के उत्पादन के लिए बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन और गावी से भी करार किया है।

भारतीय औषधि महानियंत्रक (डीसीजीआई) ने ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा विकसित कोरोना के वैक्सीन के तीसरे चरण के मानव परीक्षण के लिए सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) को मंजूरी दे दी है।

दुनियाभर में कोरोना का प्रकोप देखने को मिल रहा है। ऐसे में पुणे में स्थित सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया के चीफ एग्जिक्यूटिव अदार पूनावाला ने सबसे पहले और बड़ी तादाद में वैक्सीन तैयार करने का दावा किया है।

दुनियाभर में इस वक्त कोरोना वैक्सीन के तकरीबन 140 प्रोजेक्ट चल रहे हैं। इनमें कई वैक्सीन के ह्यूमन ट्रायल शुरू हो चुके हैं।

दरअसल पुणे स्थित सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया ने बताया कि ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और एस्ट्राजेनेका की ओर से विकसित की जा रही वैक्सीन के दिसंबर तक 30-40 लाख डोज तैयार हो जाएंगी। 

भारत के लिए 50 करोड़ कोरोना वैक्सीन डोज बनाने का बीड़ा अदर पूनावाला ने उठाया है। अदर पूनावाला इस वक्त सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया के सीईओ हैं।