Sharad pawar

अमित शाह ने कहा, महाराष्ट्र में चुनावी शंखनाद हो चुका है। एक तरह भाजपा और शिवसेना देवेंद्र फडणवीस जी के नेतृत्व में चुनाव लड़ रहे हैं और दूसरी ओर कांग्रेस और एनसीपी जैसी परिवारवादी पार्टियां चुनावी मैदान में हैं।

माजिद मेमन ने कहा कि शरद पवार अपना अस्तित्व बिल्कुल नहीं खोना चाहते हैं। अगर कांग्रेस एनसीपी में अपना विलय करना चाहती है तो कर सकती है।

बता दें कि महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव के लिए नामांकन दाखिल करने का आज आखिरी दिन है। फडणवीस नागपुर की साउथ वेस्ट सीट से विधानसभा का चुनाव लड़ रहे हैं और एक बार फिर सत्ता में वापसी की कोशिश में हैं।

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है. कांग्रेस के छह मौजूदा विधायकों ने भारतीय जनता पार्टी का दामन थामने का फैसला लिया है।

महाराष्ट्र में होने जा रहे विधानसभा चुनाव के मद्देनजर कांग्रेस पार्टी ने अपने 51 उम्मीदवारों के नामों की सूची जारी कर दी है। जारी की गई सूची में पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण का नाम भी शामिल है।

महाराष्ट्र कॉ-ऑपरेटिव बैंक घोटाले में नाम आने के बाद शरद पवार के भतीजे और एनसीपी के कद्दावर नेता अजीत पवार ने राजनीति से संन्यास लेने का मन बना लिया है। अजीत पवार को पार्टी के नेता लगातार समझा रहे हैं लेकिन वो अपने फैसले पर अड़े हुए हैं।

शरद पवार ने कहा कि सभी विपक्षी पार्टियां उनके साथ हैं और बैंक घोटाले से उनका कोई लेना-देना नहीं है। उन्होंने कहा, मैं नहीं चाहता कि कानून व्यवस्था खराब हो, इसलिए ईडी दफ्तर नहीं जाने का फैसला किया है।

संजय राउत ने कहा कि शरद पवार भारतीय राजनीति के भीष्म पितामह हैं। पूरा महाराष्ट्र जानता है कि जिस बैंक में घोटाले को लेकर ईडी ने एफआईआर में नाम दर्ज किया है, उस बैंक में शरद पवार किसी भी पद पर नहीं रहे हैं।

शरद पवार ने कहा है कि हम संविधान का आदर करने वाले लोग हैं, इसलिए पुलिस और अन्य सरकारी एजेंसियों के साथ जांच में सहयोग करें। इसलिए किसी भी तरह का ऐसा कोई काम न करें, जिससे लोगों को दिक्कत हो।

ईडी के केस दर्ज होने के बाद शरद पवार ने कहा कि उन्हें जेल जाने से कोई समस्या नहीं है। वह इसका स्वागत करेंगे। हालांकि शरद पवार से जेल के बारे में कोई सवाल नहीं किया गया था।