Sharad pawar

महाराष्ट्र स्टेट को-ऑपरेटिव बैंक (एमएससीबी) घोटाला मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के प्रमुख शरद पवार और उनके भतीजे अजित पवार के खिलाफ मंगलवार को मामला दर्ज किया है।

महाराष्ट्र में चुनाव सर पर हैं। राजनीतिक दल चुनाव की तैयारियों में लगे हुए हैं। मगर इस बीच एनसीपी के मुखिया शरद पवार ने एक बेहद विवादास्पद बयान दे दिया है।

मध्य रेलवे के वरिष्ठ सुरक्षा आयुक्त व आरपीएफ मुंबई मंडल के.के. अशरफ ने कहा कि आरपीएफ ने इस घटना पर बहुत गंभीरता से संज्ञान लिया है और आरोपी पर 'कानून की सभी संबंधित धाराएं' लगाई गई हैं।

बता दें कि यदि चुनाव आयोग इन पार्टियों का राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा समाप्त करता है तो फिर देश में सिर्फ भाजपा, कांग्रेस, नेशनल पीपल्स पार्टी, सीपीएम और बसपा ही राष्ट्रीय पार्टियां रह जाएंगी।

शरद पवार ने कहा है कि कार्यकर्ताओं को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के स्वयंसेवकों से सीखना चाहिए कि लोगों के संपर्क में कैसे रहा जाए। आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए शरद पवार ने कार्यकर्ताओं से यह भी कहा कि वे लोगों के घर-घर जाकर लोगों से मिलें।

लोकसभा चुनाव के नतीजों से पहले विपक्ष सारे हथकंडे अपना लेना चाहता है। एक ओर वीवीपैट को लेकर बवाल मचाया जा रहा है तो वहीं दूसरी ओर नायडू पूरे विपक्ष को एकजुट करने में जुटे हैं। चूंकि 23 मई को नतीजे घोषित होने हैं, जिसमें महज दो दिन बचे हैं। लगभग सभी एग्जिट पोल में बीजेपी के अगुवाई वाले एनडीए को बहुमत मिलने की बात कही जा रही है।

लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण की वोटिंग अभी जारी है। तो वहीं विपक्ष अभी से सरकार बनाने को लेकर जोड़तोड़ में जुटा है। बता दें कि पूरी विपक्षी एकता का जिम्मा इस बार आंध्र प्रदेश के सीएम चंद्रबाबू नायडू ने लिया है। महज 24 घंटे में ही वो कई नेताओं से दो बार मिल चुके हैं।

राष्ट्रवादी कांग्रेस (एनसीपी) प्रमुख शरद पवार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तंज कसते हुए कहा कि वैसे तो वह ठीक हैं, लेकिन चुनाव के दौरान उन्मादी हो जाते हैं। शरद पवार ने पार्टी के कार्यकर्ताओं को व्यक्तिगत तौर पर किसी की आलोचना से बचने की सलाह देते हुए कहा कि यह जिम्मेदारी प्रधानमंत्री ने संभाल रखी है।

पूर्व केंद्रीय मंत्री और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के नेता शरद पवार की प्रोफाइल के साथ किसी ने छेड़छाड़ की और उन्हें देश का सबसे भ्रष्ट नेता बता दिया।

इस बार लोकसभा चुनाव में भारतीय राजनीति के कुछ बड़े चेहरे नजर नहीं आएंगे। राकांपा प्रमुख शरद पवार के चुनाव लड़ने की अटकलें थीं, लेकिन उन्होंने इससे इनकार कर दिया।