Sharad pawar

महाराष्ट्र की राजनीति एक से बढ़कर एक नए रंग दिखा रही है। महीने भर से चल रहा महाराष्ट्र में सियासी ड्रामा आखिरकार थम गया है । गुरुवार शाम 6 बजकर 40 मिनट पर उद्धव ठाकरे शिवाजी पार्क में मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेंगे ।

इस बीच आदर्श सोसायटी की ओर से ईडी से गुजारिश की गई है कि उन्हें 3 महीने का टाइम दिया जाए। 3 महीनों में वह ईडी की ओर से मांगी गई जरूरी सूचना और दस्तावेजों को पेश कर देंगे। आदर्श सोसाइटी ने उस समय तक कोई भी कार्यवाही न करने का अनुरोध किया है।

शिवसेना बीजेपी की तुलना में लगभग आधी सीटों पर थी मगर फिर भी ढाई साल का सीएम पद मांग रही थी। ऐसे में एनसीपी का दावा भी बनता है।

महाराष्ट्र में शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी गठबंधन वाली सरकार का शपथ ग्रहण 1 दिसंबर को होगा और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे को विधायक दल का नेता चुना गया।

राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने भाजपा के विधायक कालिदास कोलंबर को राज्य का प्रोटेम स्पीकर नियुक्त कर दिया है। राज्यपाल ने मंगलवार को कोलंबर को शपथ दिलाई। 

चौंकिएगा नही। ये सच है। देवेंद्र फडणवीस के इस्तीफे के बाद अब उद्धव ठाकरे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री होंगे। उपमुख्यमंत्री की रेस में दो नाम हैं। पहला नाम जयंत पाटिल का है और दूसरा बालासाहेब का है।

पहले जहां डिप्टी सीएम पद से अजित पवार ने इस्तीफा दिया था। तो अब महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने भी अपने पास बहुमत नहीं होने का दावा करते हुए अपने पद से इस्तीफा दे दिया है।

महाराष्ट्र मामले पर हो रही इस बैठक में पीएम मोदी, अमित शाह के अलावा बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा भी मौजूद हैं। बता दें कि अब भारतीय जनता पार्टी के सामने बहुमत साबित करने की चुनौती है।

महाराष्ट्र में चल रहे सियासी ड्रामे के बीच एक बड़ी खबर सामने आ रही है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक अजित पवार ने उप-मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। वहीं माना जा रहा है कि मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस भी दोपहर 3.30 बजे इस्तीफा दे सकते हैं।

अजित पवार के वर्षा जाने के बाद ही एनसीपी ने यह फैसला लिया। मुंबई के होटल सोफिटेल में एनसीपी के एमएलए के साथ बैठक में शरद पवार और सुप्रिया सुले भी मौजूद रहे। इसी बैठक में यह निर्णय लिया गया।