Shi Zinping

दो दिन के चीनी राष्ट्रपति के इस दौरे में कश्मीर पर कोई चर्चा नहीं हुई है। वहीं भारत की ओर से वैश्विक आतंकवाद और कट्टरपंथ के मुद्दे पर चीन के साथ बातचीत हुई।

इस मुलाकात के दौरान पीएम मोदी ने जिनपिंग को महाबलीपुरम में स्थित तमाम धार्मिक स्थलों से रूबरू कराया और अंत में शोर मंदिर में सांस्कृतिक कार्यकमों का लुत्फ उठाया।

प्रधानमंत्री मोदी के ख़िलाफ़ सोशल मीडिया पर चलाया जा रहा कैंपेंन, जब लगातार टॉप पर ट्रेंड करता रहा तब भारतीय साइबर एक्स्पर्ट ने इसकी तहक़ीक़ात शुरू की।

पीएम मोदी आज सुबह ही महाबलिपुरम पहुंच गए थे और जिनपिंग दोपहर करीब 3 बजे चेन्नई पहुंचे थे। जिनपिंग की स्वागत के लिए पीएम मोदी ने चिनी भाषा में ट्वीट भी किया था।

कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने गुरुवार को ट्वीट किया कि अगर शी जिनपिंग कह रहे हैं कि उनकी नज़र जम्मू-कश्मीर पर है, तो प्रधानमंत्री या विदेश मंत्रालय क्यों नहीं कहता है कि भारत हांगकांग में हो रहे लोकतंत्र को लेकर प्रदर्शन को देख रहा है

चीन ने अपने इस बयान में कहा कि पाकिस्तान की ओर से उसे जम्मू-कश्मीर के ताजा हालात के बारे में बताया गया है, चीन इस मामले में नज़र बनाए हुए है।

पीएम मोदी ने अपने दूसरे कार्यकाल के पहले 100 दिन में पूरे विश्व को अपनी विदेश नीति का मुरीद कर दिया। इस दौरान दुनिया की तमाम महाशक्तियों ने मोदी का लोहा मान लिया।

अमेरिका और चीन के बीच व्यापार युद्ध का एक और नतीजा सामने आया है। इचपी इंक, डेल, माइक्रोसॉफ्ट और अमेजन जैसी तकनीकी क्षेत्र की दिग्गज कंपनियां चीन से पर्याप्त उत्पादन क्षमता को स्थानांतरित करने का विचार कर रही हैं।

अमेरिका के विद्वानों और कारोबारियों ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और अमेरिकी कांग्रेस को संयुक्त पत्र भेजकर चीन के खिलाफ नीति अपनाने का विरोध किया।

चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने शनिवार को जापान के ओसाका में फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रां से मुलाकात की। शी चिनफिंग ने कहा, "गत मार्च महीने में मैंने फ्रांस की राजकीय यात्रा की।