sitaram yechury

15 जनवरी को सीलमपुर(Silampur) में हुए प्रदर्शन के बारे में फातिमा ने पुलिस के सामने खुलासा करते हुए कहा, "योजना के अनुसार भीड़ बढ़ने लगी थी। उमर खालिद(Umar Khalid), चंद्रशेखर रावण(Chandra Shekhar Ravan), योगेंद्र यादव, सीताराम येचुरी(Sitaram Yechury) और वकील महमूद प्राचा सहित बड़े नेता और वकील इस भीड़ को भड़काने के लिए आगे आने लगे।"

ताज्जुब इस बात का है कि यहां लेफ्ट फ्रंट में है और कांग्रेस नेता उदित राज पीछे यहां खड़े दिखे। उदित राज खुद को दलितों का नेता बताते हैं लेकिन एक स्टिंग ऑपरेशन में फंस चुके हैं।

बॉलीवुड अभिनेत्री दीपिका पादुकोण जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में छात्रों पर हुए हमले के बाद छात्रों के प्रति एकजुटता दिखाने के लिए मंगलवार को जेएनयू पहुंची लेकिन उन्होंने वहां मौजूद लोगों को संबोधित नहीं किया।

महाभारत-रामायण को लेकर दिए गए सीताराम येचुरी के बयान की बीजेपी कड़ी निंदा कर रही है, तो वहीं मामले को लेकर अब बाबा रामदेव ने येचुरी से सवाल किया कि कम्युनिस्टों, ईसाइयों व मुगलों के शासन में जो निर्दोष लोगों के कत्ल किए गए, उसे हिंसा व अत्याचार कहने का साहस येचुरी कर पाएंगे।

मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के महासचिव सीताराम येचुरी ने शुक्रवार को यहां कहा कि हिंदू शासकों को भी हिंसा से परहेज नहीं रहा है, और यह कहना गलत है कि हिंदू हिंसक नहीं हो सकता।

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव 2019 में राहुल गांधी को विपक्ष का प्रधानमंत्री उम्मीदवार घोषित करने के मुद्दे पर सीताराम येचुरी...

हैदराबाद। मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्ट (माकपा) ने रविवार को सीताराम येचुरी को फिर से अपने महासचिव के रूप में निर्वाचित किया।...