sonia gandhi

सचिन पायलट यहां कांग्रेस के लिए जीत तय करनेवाले विमान की मुख्य सीट पर बैठकर उसको चला रहे थे और सत्ता की मलाई खाने का जब वक्त आया तो पार्टी की तरफ से अशोक गहलोत को सामने लाकर खड़ा कर दिया।

कांग्रेस में जारी अंतर्कलह को लेकर पार्टी के कई वरिष्ठ नेता चिंतिति और परेशान नजर आ रहे हैं। कल इसी को लेकर दिग्विजय सिंह का भी बयान आया था। अब कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने अपनी पार्टी के लिए चिंता जाहिर की है।

सूत्रों के अनुसार, पायलट खेमे के सदस्य माने जाने वाले विधायक पी. आर. मीणा ने राजस्थान में अशोक गहलोत सरकार द्वारा उनसे किए जाने वाले सौतेले व्यवहार से सोनिया गांधी को अवगत कराने के लिए उनसे मिलने की मांग की थी।

पीएम मोदी को लिखे पत्र में सोनिया गांधी ने लिखा है कि, 'अखिल भारतीय कोटा के तहत सभी केंद्रीय एवं प्रादेशिक मेडिकल शिक्षण संस्थानों में अनुसूचित जाति, अनुसूचति जनजाति और आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों के लिए क्रमश: 15, 7.5 और 10 प्रतिशत सीटें आरक्षित होती हैं।

मध्य प्रदेश के कृषि मंत्री कमल पटेल ने राजीव गांधी फाउंडेशन को चीन से चंदा मिलने के बाद आयात में दी गई रियायतों के लिए तत्कालीन वाणिज्य मंत्री कमलनाथ की भूमिका को संदिग्ध बताते हुए पूरे मामले की सीबीआई से जांच कराने की मांग की है।

कांग्रेस को आड़े हाथों लेते हुए पेट्रोलियम मंत्री ने कहा, "बिचौलियों, 'राष्ट्रीय दामाद', 'परिवार' और राजीव गांधी फाउंडेशन के खातों में पैसा ट्रांसफर करने के कांग्रेस के इतिहास के विपरीत, मोदी जी का डीबीटी (डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर) गरीबों, किसानों, प्रवासी कर्मचारियों और महिलाओं के हाथ में पैसा देना है।"

नरसिम्हा राव के संबंध कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से कभी उतने ठीक नहीं रहे हैं। यहां तक कि कांग्रेस के इस समय के कई बड़े नेता नरसिम्हा राव के पीएम होते हुए बाबरी मस्जिद गिराए जाने की घटना को 'दुर्भाग्य' के नजरिए से देखते हैं।

अब सोनिया गांधी के इस द्वारा जारी इस वीडियो संदेश पर भारत के पूर्व थल सेना अध्यक्ष जनरल वी.पी. मलिक का बयान सोशल मीडिया पर आया है।

रविशंकर प्रसाद ने कहा कि कांग्रेस ने चीन के सामने घुटने टेक रखे थे। साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि राजीव गांधी फांउडेशन से चीन को डोनेशन मिला।

इस पूरे मामले को लेकर अदालत में दो पीआईएल दाखिल किया गया है। एक अधिवक्ता शशांक झा के द्वारा और दूसरा PIL ऑनलाइन पोर्टल गोवा क्रॉनिकल के संस्थापक और एडिटर इन चीफ सवियो रॉड्रिक्स के द्वारा दाखिल किया गया है।