SP-BSP alliance

मायावती की तानाशाही और भाई-भतीजावाद से नाराज़ ये धड़ा भी पाला बदलकर बीजेपी में जा सकता है। इस तरह बीजेपी जल्द ही बहुमत के करीब पहुंच सकती है।

चुनाव खत्म होते ही बसपा ने सपा से अलग होने का फैसला कर लिया है। बसपा का आरोप है कि सपा के परंपरागत वोट बसपा के उम्मीदवार को ट्रांसफर नहीं हुए। हालांकि कि ये अलग बात है कि बसपा ने सपा का सहारा लेकर अपनी झोली में 10 सीट डाल ली।

क्या सपा-बसपा गठबंधन में आई दरार

मायावती ने दो टूक कहा है कि भारतीय जनता पार्टी को शिकस्तत देने के लिए सपा-बसपा का गठबंधन ही काफी है। इसके साथ ही उन्होंतने कांग्रेस को चेतावनी देते हुए कहा कि वह जबरदस्ती सीट छोड़ने का भ्रम न फैलाए।

समाजवादी पार्टी के पूर्व अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव ने फिर एक ऐसा बयान दिया है जो उनके बेटे और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के लिए झटका साबित हो सकता है। मुलायम ने यूपी में सपा-बसपा गठबंधन पर हमला बोला है और इस बात पर आपत्ति जाहिर की है कि अखिलेश यादव इस गठबंधन में आधी सीटों पर राजी हो गए। मुलायम कुछ दिन पहले भी लोकसभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जीत और सत्ता में वापसी की कामना कर चुके हैं।

लोकसभा चुनाव को लेकर सभी पार्टियों ने अपनी-अपनी रणनीतियां तैयार कर ली हैं। वहीं भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने सपा-बसपा गठबंधन और गांधी परिवार की अहम सदस्य प्रियंका गांधी की सियासत में आने से आने वाली चुनौतियों का सामने करने के लिए बड़ी रणनीति तैयार कर ली है।

नई दिल्ली। यूपी में होने वाले लोकसभा चुनाव के लिए सपा और बसपा गठबंधन भले ही चुका है लेकिन ये...

नई दिल्ली। भाजपा का सफाया करने के लिए बुआ और भतीजा एक साथ हो गए हैं। वहीं अब यूपी में...

नई दिल्ली। भाजपा भले ही सपा-बसपा गठबंधन को गंभीरता से ना लेने की बात कर रही हो, लेकिन उसके सहयोगी...

नई दिल्ली।  यूपी में समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी में आगामी लोकसभा चुनाव के लिए गठबंधन तय हो गया है।...