special court

न्यायमूर्ति बी. पी. धर्माधिकारी और न्यायमूर्ति स्वप्ना जोशी एक खंडपीठ ने पूर्व विधायक गवली के साथ ही इस अपराध में शामिल उसके कुछ अन्य सहयोगियों की सजा की भी पुष्टि की।

जमानत के मामले में शनिवार दोपहर को सुनवाई पूरी हुई, जिसमें दोनों पक्षों के वकीलों ने अपनी दलीलें स्पेशल कोर्ट का सामने रखीं। जिसके बाद विशेष न्यायाधीश सुरेश सिंह ने फैसला सुरक्षित रखा और जमानत देने का ऐलान किया।

मालेगांव बम धमाकों में आरोपी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को एनआईए कोर्ट से बड़ी राहत मिली है। इसके अलावा एनआईए की विशेष अदालत ने प्रज्ञा ठाकुर, कर्नल प्रसाद पुरोहित और सुधाकर चतुर्वेदी को पेशी से छूट दे दी है। इन तीनों ने निजी समस्या और परेशानी बताते हुए अदालत से रियायत की मांग की थी।

विशेष न्यायाधीश अरविंद कुमार ने सक्सेना को सरकारी गवाह बनने की अनुमति दी। आपको बता दें, इससे पहले प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने अदालत से कहा था कि उसे सक्सेना के सरकारी गवाह बनने पर कोई आपत्ति नहीं है क्योंकि यह एजेंसी के लिए बहुत फायदेमंद होगा।

नई दिल्ली। दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने कोयला ब्लॉक आवंटन मामले में पूर्व कोयला सचिव एच.सी. गुप्ता समेत तीन अफसरों...