Sudhanshu Trivedi

शेर-ओ-शायरी के जरिए भाजपा के राज्यसभा सांसद सुधांशु त्रिवेदी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर कहा कुछ ऐसा कि उनकी हर कोई तारीफ कर रहा है।

सुधांशु त्रिवेदी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ में एक कविता की चंद पंक्तियां पढ़ी जिसके बाद से लोग जमकर सुधांशु की तारीफ कर रहे हैं।

सुधांशु त्रिवेदी ने कहा कि हर आंदोलन में कोई ना कोई प्रतिनिधि होता है। मीडिया से बात करने के लिए प्रतिनिधि थे, लेकिन गृह मंत्री से बात करने के लिए कोई प्रतिनिधि नहीं था।

सुधांशु त्रिवेदी ने ये भी कहा कि "केवल राजनीति करने के लिए कागज नहीं दिखाएंगे का नारा लगा हुआ है, जबकि कोई कागज दिखाने के लिए कहा ही नहीं गया है।

राज्यसभा में भाजपा के सांसद सुधांशु त्रिवेदी ने उन लोगों को आईना दिखाया जो सीएए, एनआरसी जैसे कानूनों को संविधान विरोधी बता रहे हैं।

रिपब्लिक टीवी पर भाजपा प्रवक्ता और राज्यसभा सदस्य सुधांशु त्रिवेदी और पवन वर्मा डिबेट शो में शामिल हुए थे। इस कार्यक्रम को अर्नब गोस्वामी होस्ट कर रहे थे।

इस बिल को पेस करने के बाद भाजपा नेता और राज्यसभा सांसद सुधांशु त्रिवेदी ने कांग्रेस को नसीहत देते हुए कहा कि, जब हर जगह कार्यकाल पूरा होने से पहले सदस्य को हटाया जा सकता है तो फिर इस बिल से क्यों नहीं।

मंगलवार को राज्यसभा में इस बिल पर बहस की गई जिसके बाद इसे बहुमत के साथ पास कर दिया गया। इस बिल में ये भी प्रावधान है कि, अब इसमें कांग्रेस अध्यक्ष इसका स्थायी सदस्य नहीं होगा।

उत्तर प्रदेश की राज्यसभा सीट पर भाजपा उम्मीदवार सुधांशु त्रिवेदी निर्विरोध निर्वाचित हुए। विधानसभा के विशेष सचिव बीबी दुबे ने बताया कि बुधवार को नामांकन पत्र वापस लेने की अंतिम तारीख थी

पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली के निधन के बाद खाली हुई उनकी राज्यसभा सीट के लिए भाजपा उम्मीदवार सुधांशु त्रिवेदी ने शुक्रवार को अपना नामांकन दाखिल किया।