Uddhav Thackeray

महाराष्ट्र में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या हर रोज बढ़ती ही जा रही है। बीते 24 घंटे में सूबे में कोरोना वायरस ने 139 लोगों की जान ले ली है।

महाराष्ट्र में गुरुवार शाम तक कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 77 हजार 793 और मृतकों की संख्या 2710हो गई। पिछले 24 घंटे मेंयहां 2933 नएकेस मिले, जबकि 123 मरीजों की मौत हुई।

पूर्व मुख्यमंत्री फडणवीस ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को टैग करते हुए सवाल किया कि क्या आप इससे सहमत हैं? अगर सहमत नहीं हैं तो क्या आप कड़ी कार्रवाई करेंगे?

एक नहीं बल्कि तीन अस्पतालों की लापरवाही की वजह से एक गर्भवती महिला की जान चली गई। महाराष्ट्र के ठाणे से चिकित्सा लापरवाही की ये चौंकाने वाली घटना सामने आई है।

कोरोना संकटकाल के बीच एक बार फिर महाराष्ट्र में सियासत गर्म है। महाराष्ट्र में एक बार फिर राजनीतिक ड्रामा शुरू हो गया है।

महाराष्‍ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने राज्‍य में घरेलू विमान सेवाएं शुरू करने के लिए नागरिक उड्डयन मंत्रालय से कुछ और समय मांगा है। साथ ही उन्‍होंने यह भी कहा है वह अभी यह भी नहीं कह सकते हैं कि 31 मई को राज्‍य में लॉकडाउन समाप्‍त कर दिया जाएगा क्‍योंकि महाराष्‍ट्र में कोरोना वायरस का संक्रमण थमने का नाम नहीं ले रहा।

रक्तदान करने की अपील करते हुए मुख्यमंत्री उद्धव ने कहा कि, मैं लोगों से अपील करता हूं कि वे बाहर आएं और रक्तदान करें। हमारे पास 10-15 दिनों का ही खून रह गया है।

उद्धव ठाकरे ने इस बैठक में माना की राज्य में केंद्रीय पुलिस के तैनाती की जरूरत है। उन्होंने कहा कि हम केंद्रीय पुलिस बल की राज्य में स्थिति नियंत्रण में लाने के लिए तैनाती की मांग करते हैं। इस पर विचार किया जाना चाहिए।

पालघर लिंचिंग के सिलसिले में गिरफ्तार किए आरोपियों में से एक आरोपी को कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया है।

उद्धव ठाकरे महाराष्ट्र के सीएम हैं। हालांकि, वह विधानमंडल के सदस्य नहीं हैं। उद्धव ठाकरे का विधानमंडल का सदस्य ना होना ही उनकी सरकार के खतरा बन गया है।