Uma Bharti

Babri Masjid : कोर्ट ने अपने फैसले में कहा है कि बाबरी विध्वंस(Babri Masjid Demolition) सुनियोजित नहीं था। कोर्ट ने कहा कि ‘अराजक तत्वों ने ढांचा गिराया था और आरोपी नेताओं ने इन लोगों को रोकने का प्रयास किया था।’

Babri Masjid Demolition Verdict: अयोध्या (Ayodhya) में छह दिसंबर 1992 को विवादित ढांचे को गिराने के मामले में सीबीआई की विशेष अदालत ने 28 साल बाद अपना फैसला सुना दिया है। अदालत ने बुधवार को सभी आरोपियों को बरी कर दिया है।

Uma Bharti: उमा भारती (Uma Bharti) अभी कोरोनावायरस (Coronavirus) से संक्रमित होने के बाद ऋषिकेश स्थित AIIMS में अपना इलाज करा रही हैं। उमा भारती ने सोमवार (28 सितंबर) को अपने ट्वीट में लिखा, 'मैं अभी-अभी एम्स ऋषिकेश में भर्ती हो गई हूं।

अयोध्या (Ayodhya) स्थित बाबरी ढांचा विध्वंस (Babri demolition) मामले में सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने लखनऊ की सीबीआई ट्रायल कोर्ट (CBI Trial Court) को फैसला सुनाने के लिए एक महीने का समय दिया है।

उत्तर प्रदेश के अयोध्या में राम मंदिर भूमिपूजन समारोह के लिए सभी तैयारियां कर ली गई हैं। भूमिपूजन समारोह में मंच पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी,आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत, राम मंदिर ट्रस्ट के प्रमुख नृत्य गोपाल दास, उ.प्र. की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मौजूद रहेंगे।

राम मंदिर आंदोलन के बड़े चेहरों में से एक उमा भारती अब राम मंदिर भूमि पूजन कार्यक्रम में शामिल होंगी। इस बात की जानकारी उन्होंने ट्वीट करके दी है।

अयोध्या जाने से पहले बीजेपी नेत्री उमा भारती सोमवार को उज्जैन पहुंची। जहां उन्होंने महाकाल मंदिर में भगवान शिव से आशीर्वाद लिया। बता दें कि यहीं से वो अयोध्या के लिए रवाना होंगी।

उन्होंने आगे कहा राहुल गांधी तेजस्वी व युवाओं को बर्दाश्त नहीं कर पाते। उनकी बेज्जती करते है, इस स्थिति में उनके पास टकराव के अलावा कोई रास्ता नहीं बचता। सचिन पायलट स्वाभिमानी है। उनके परिवार को करीब से जानती हूं। वह राजेश पायलट का बेटा है। जब तक राहुल गांधी के खानदान के लोग कांग्रेस में रहेंगे तब तक यह पालात लोक में चली जाएगी।

कर्नाटक के उडुपी स्थित पेजावर मठ के प्रमुख श्री विश्वेश तीर्थ स्वामीजी का रविवार को निधन हो गया। मठ के सूत्रों ने बताया कि वह कुछ समय से बीमार चल रहे थे। उन्होंने बताया कि दक्षिण भारत के प्रमुख धार्मिक गुरुओं में से एक, 88 वर्षीय स्वामी जी को सांस लेने में तकलीफ की शिकायत के चलते कुछ दिन पहले मनिपाल स्थित अस्पताल में भर्ती कराया गया था

विवादित ढांचे को गिराए जाने के मामले की सुनवाई ने तेजी पकड़ ली है। उम्मीद की जा रही है कि इस पर भी जल्दी ही फैसला आ सकता है। यह मामला लखनऊ की एक विशेष सीबीआई अदालत में चल रहा है। इस मामले में बीजेपी नेता लालकृष्ण आडवाणी, उमा भारती, मुरली मनोहर जोशी समेत कई दिग्गज नेता आरोपी हैं।