UNGA

UNGA : पीएम मोदी(PM Modi) के संबोधन में आतंक(Terrorism) के मुद्दे छाए रहने की उम्मीद है। पीएम का फोकस कोरोना वायरस(Corona Virus) की महामारी पर भी रह सकता है। महासभा के मंच से संयुक्त राष्ट्र में सुधार की बात भी पीएम मोदी उठा सकते हैं।

मैंने इस सरकार के बनने से पहले जो किताब रिलीज की उसमें पहले ही जिक्र कर दिया था कि क्या क्या मुश्किलें आएंगी और किन-किन को नवाजा जाएगा, इमरान के ईर्दगिर्द दिखाई देंगे। मेरी प्रीडक्शन सच साबित हुई। एक साल के बाद जैसा-जैसा मैंने कहा वैसे ही होता आया है।

पाकिस्तान को एक बार फिर से यूएन में जमकर लताड़ा गया। इस बार उसे महिला अधिकारों के मुद्दे पर भारत ने आइना दिखाया है। पाकिस्तान की ये दुर्गति संयुक्त राष्ट्र महासभा में महिलाओं पर आयोजित सत्र में की गई है।

विदेश कार्यालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल ने शुक्रवार को ट्वीट में कहा, "इस बात में कोई सच्चाई नहीं है कि मलीहा लोधी को किसी भी कारण से हटा दिया गया है।"

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा (यूएनजीए) में दिए गए भाषण को बकवास बताया है। गांगुली ने साथ ही कहा है कि जिस इमरान ने भाषण दिया है यह वो क्रिकेटर इमरान नहीं है जिन्हें पूरा विश्व जानता है।

भारत ने कहा कि इमरान के भाषण में अपरिपक्वता नजर आई है और पाकिस्तान ने जहां आतंकवाद को बढ़ावा दिया है और अपना निचला स्तर दिखाते हुए नफरत भरा भाषण दिया है, वहीं भारत जम्मू-कश्मीर में मुख्यधारा के विकास के साथ आगे बढ़ रहा है।

पीएम मोदी रविवार रात 10 बजे के बाद जेएफके अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा पहुंचे। वह यहां यूएनजीए के वार्षिक सत्र को 27 सितंबर को संबोधित करेंगे और करीब एक सप्ताह के न्यूयॉर्क प्रवास के दौरान उनका कई द्विपक्षीय और बहुपक्षीय बैठकों का कार्यक्रम है।

दरअसल न्यूयॉर्क में मीडिया से बात करते हुए अकबरुद्दीन ने पाकिस्तान को चेतावनी देते हुए कहा कि कश्मीर के मुद्दे पर पाकिस्तान जितना नीचे गिरेगा, भारत का कद उतना ही बढ़ेगा। वह ठोकरें खाते हैं, भारत ऊंची उड़ान भरता है।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, संयुक्त राष्ट्र के 'डिक्लेरेशन एंड प्रोग्राम ऑफ एक्शन ऑन अ कल्चर ऑफ पीस' को अपनाए जाने की 20 वीं वर्षगांठ के मौके पर शुक्रवार को एस्पिनोसा ने यह टिप्पणी की।

मंगलवार को एस्पिनोसा के बयान के संबंध में एक पाकिस्तानी संवाददाता के एक सवाल के जवाब में ग्रेले ने कहा, "पीजीए ने आज कश्मीर पर कोई बयान नहीं दिया है। जो शायद आपने देखा है, वही हमने देखा कि उन्होंने कल पाकिस्तान की स्थाई प्रतिनिधि के साथ बैठक की।"