United Kingdom

पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ (Nawaz Sharif) एक भगोड़ा हैं और उनके प्रत्यर्पण (Extradition) के लिए सरकार ने ब्रिटिश सरकार (UK Government) से सम्पर्क किया है।

ब्रिटिश सिक्के पर महात्मा गांधी की तस्वीर का सबसे पहले विचार अक्टूबर 2019 में पूर्व मंत्री साजिद जाविद ने दिया था।

भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या के प्रत्यर्पण को लेकर भारत की ओर से प्रत्यन जारी हैं, मगर फिलहाल इसमें कुछ और देरी हो सकती है, क्योंकि अभी इस दिशा में एक और कानूनी मुद्दा सुलझाना बाकी है।

2019 में डेढ़ महीने तक चले आम चुनाव में थकान भरी कवायद के बाद परिणाम आने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी केदारनाथ पहुंचे थे और उन्होंने भगवान शिव का रूद्राभिषेक कर उनकी आराधना की थी।

2019 में आम चुनाव से ठीक पहले देश के लगभग हर मंच पर विपक्षी एकता साफ नजर आ रही थी। इन विपक्षी दलों का सिर्फ और सिर्फ एक मकसद था किसी तरह नरेंद्र मोदी सरकार को सत्ता में दोबारा लौटने से रोकना।

नरेंद्र मोदी सरकार 1.0 में सियासी ताज सजने तक पार्टी की कमान भले राजनाथ सिंह के हाथ हो लेकिन सरकार गठन के बाद से पार्टी की कमान अमित शाह के मजबूत हाथों में आ गई।

सरकार के गठन के बाद जिस तरह से ताबड़तोड़ फैसले लिए गए उसने एक साल के मोदी सरकार 2.0 के कार्यकाल में नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता का ग्राफ और ऊंचा कर दिया।

ब्रिटेन के सांसदों ने 12 दिसंबर को आम चुनाव कराए जाने के पक्ष में वोट दिया है। देश के राजनीतिक दल आम चुनाव अभियान के लिए तैयार हैं। बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार, ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कहा कि वह 'कठिन' आम चुनाव लड़ने के लिए तैयार हैं।

पुलिस के आते ही हमलावर मौके से फरार हो गए। ये वही पाकिस्तानी मंत्री हैं जिन्होंने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद भारत को परमाणु युद्ध की धमकी दी थी। इसी मंत्री ने भारत-पाक के बीच चलने वाली समझौता एक्सप्रेस ट्रेन को बंद करने का ऐलान भी किया था। 

सीबीआई के लिए एक बड़ी उपलब्धि के तहत ब्रिटिश सरकार ने सोमवार को भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या को भारत प्रत्यर्पित करने को मंजूरी दे दी। माल्या किंगफिशर एयरलाइन के 9,000 करोड़ रुपये के ऋण के लिए भारत में वांछित है।