Unnao rape case

योगी सरकार उन्नाव पीड़िता को दिल्ली भेजने की तैयारी में है। उसे बेहतर इलाज के लिए एम्स में भर्ती कराया जा सकता है। योगी सरकार उसकी स्थिति में कुछ सुधार आते ही उसे एयर एंबुलेंस के जरिए एम्स भेज सकती है।

चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने इस केस पर सख्त रुप अपनाते हुए इस केस से जुड़े सारे मामले को लखनऊ से दिल्ली शिफ्ट कर दिया है। इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया है कि सीबीआई एक्सिडेंट केस की जांच सात दिनों में पूरी करे।

भारतीय जनता पार्टी ने उन्नाव रेप केस के आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को पार्टी से निकाल दिया है। इससे पहले कुलदीप सिंह को भाजपा ने निलंबित किया था, लेकिन रेप पीड़िता के साथ हुए सड़क हादसे के बाद विधायक सेंगर को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाया गया है।

उत्‍तर प्रदेश के उन्‍नाव दुष्‍कर्म में आज सुप्रीम कोर्ट ने बड़ा फैसला सुनाया है। कोर्ट ने कहा है कि अगर जरूरत महसूस हुई, तो उन्‍नाव दुष्‍कर्म से जुड़े सभी केस यूपी से बाहर ट्रांसफर किए जा सकते हैं। इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने इस केस से जुड़े सीबीआई अधिकारियों को भी तलब किया।

उन्‍नाव रेप पीड़िता की कार की रहस्‍यमय टक्‍कर मामले की जांच हाथ में लेने के बाद सीबीआई एक्‍शन में है। सीबीआई ने भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर समेत 10 के खिलाफ केस दर्ज किया है।

जिलाधिकारी देवेंद्र कुमार पांडेय ने बताया, "दुष्कर्म पीड़िता के चाचा को हाईकोर्ट से एक दिन के पैरोल की स्वीकृति मिली है। पीड़िता के चाचा अंतिम संस्कार के लिए घाट पर पहुंचेंगे। वे बुधवार सुबह छह बजे से शाम छह बजे तक पैरोल पर रहेंगे। उधर पीड़िता की चाची का शव भी उन्नाव के माखी गांव पहुंच गया है। जिला प्रशासन ने पीड़िता के घर की सुरक्षा बढ़ा दी है। जिला प्रशासन ने रास्ते के साथ ही घाट पर भी सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए हैं।"

दरअसल  प्रियंका गांधी ने अपने ट्वीट में एफआईआर की कॉपी लगा दी जिसमें रेप पीड़िता का नाम साफ दिखाई दे रहा है। हालांकि गलती का अहसास होने के बाद प्रियंका ने अपने ट्विटर अकाउंट से यह ट्वीट हटा दिया है।

हादसे के बाद फतेहपुर के जेल रोड पर देवेंद्र पाल के मकान में ताला बंद है।बताया जा रहा है कि देवेंद्र पाल ललौली थाना क्षेत्र के मुत्तोर गांव के रहने वाले हैं। उनकी तलाश शुरू हो गई है। ट्रक चालक फ़तेहपुर जनपद का रहने वाला है। ललौली के रहने वाले देवेंद्र किशोर पाल के कई ट्रक हैं।

उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) ओपी सिंह ने कहा, 'हम निष्पक्ष और निशुल्क जांच करेंगे। जांच से पता चलता है कि यह पूरी तरह से एक ट्रक के कारण दुर्घटना थी। ट्रक ड्राइवर और मालिक को गिरफ्तार कर लिया गया है। यदि परिवार मामले की सीबीआई जांच की मांग करता है, तो हम मामले को सीबीआई को सौंप देंगे।' 

बताया जा रहा है कि उन्नाव गैंगरेप पीड़िता के चाचा जेल में बंद हैं। चाचा से मिलने के लिए पीड़िता, उसकी चाची और वकील महेंद्र सिंह रायबरेली जेल जा रहे थे। इसी दौरान एक ट्रक ने उनकी कार को टक्कर मार दी।