USA

रोग फैलाने वाले कोरोनावायरस वैश्विक जन स्वास्थ्य के लिए बड़ा खतरा हैं जैसा कि सार्स-सीओवी, एमईआरएस-सीओवी और नये उभरे सार्स-सीओवी-2 के कारण देखने को मिला भी है।

भारतवंशी अमेरिकियों ने रविवार को वॉशिंगटन में चीनी दूतावास के सामने प्रदर्शन किया। लोगों ने लद्दाख में एलएसी पार करने की चीन की कोशिशों पर नाराजगी जाहिर की।

पकिस्तान को एक और बड़ा झटका लगा है। अमेरिका ने पाकिस्तान की इंटरनेशनल एयरलाइंस पर बैन लगा दिया है। अमेरिका ने इसके पीछे पाकिस्तानी पायलटों के सर्टिफिकेशंस को लेकर फेडरल एविएशन एडमिनिस्ट्रेशन की चिंताओं का हवाला दिया है।

भारत में रविवार शाम 9 बजे तक कोरोना संक्रमण के 6 लाख 87 हजार 760 मरीज सामने आ चुके हैं, जिनमें से 19,568 मरीजों की मौत हो चुकी है।

2019 में डेढ़ महीने तक चले आम चुनाव में थकान भरी कवायद के बाद परिणाम आने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी केदारनाथ पहुंचे थे और उन्होंने भगवान शिव का रूद्राभिषेक कर उनकी आराधना की थी।

2019 में आम चुनाव से ठीक पहले देश के लगभग हर मंच पर विपक्षी एकता साफ नजर आ रही थी। इन विपक्षी दलों का सिर्फ और सिर्फ एक मकसद था किसी तरह नरेंद्र मोदी सरकार को सत्ता में दोबारा लौटने से रोकना।

नरेंद्र मोदी सरकार 1.0 में सियासी ताज सजने तक पार्टी की कमान भले राजनाथ सिंह के हाथ हो लेकिन सरकार गठन के बाद से पार्टी की कमान अमित शाह के मजबूत हाथों में आ गई।

सरकार के गठन के बाद जिस तरह से ताबड़तोड़ फैसले लिए गए उसने एक साल के मोदी सरकार 2.0 के कार्यकाल में नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता का ग्राफ और ऊंचा कर दिया।

फ्रांस की दवा निर्माता कंपनी सैनोफी ने कहना है कि वह अपनी पहली वैक्सीन सबसे पहले अमेरिका को देगा। कुछ हफ्तों पहले एक अमेरिकी अखबार ने खुलासा किया था कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का इस कंपनी में शेयर है। ट्रंप ने इसमें निवेश किया है।

अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन दवा के निर्यात को मंजूरी मिलने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ में जमकर कसीदे पढ़े हैं।