Uttar Pradesh Police

Uttar Pradesh: भीम आर्मी (Bhima Army Chief) के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद (ChandraShekhar Azad) ने आरोप लगाया है कि उत्तर प्रदेश में उनके काफिले पर गोलियां चलाई गई हैं। आजाद ने ट्वीट कर कहा है कि बुलंदशहर चुनाव में प्रत्याशी उतारने से घबराई विपक्षी पार्टियों ने ऐसी कायराना हरकत की है।

गौरतलब है कि दो जुलाई की रात को बिकरू गांव में गैंगस्टर विकास दुबे (Vikas Dubey) के घर दबिश देने पहुंची कानपुर पुलिस (Kanpur) की टीम पर घात लगाकर बैठे गैंगस्टर और उसके गुर्गों ने हमला कर दिया था, जिसमें सीओ देवेंद्र मिश्रा (Devendra Mishra) सहित आठ पुलिसकर्मी शहीद हो गए थे।

उत्‍तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले में एक विधायक ने पुलिस थाना के अंदर पुलिसकर्मियों पर अपनी पिटाई का आरोप लगाया है। भाजपा के एक विधायक ने थाने में बुधवार को पुलिसकर्मियों द्वारा कथित तौर पर उनकी पिटाई किये जाने का आरोप लगाया है।

उत्तर प्रदेश की राजधानी में शनिवार को अलग-अलग अंतर्राष्ट्रीय नंबरों से मीडियाकर्मियों व अन्य लोगों को धमकी भरा फोन का ऑडियो सुनाया गया है। राम मंदिर के निर्माण के खिलाफ ऑडियो वायरल होने के बाद पुलिस महकमा हरकत में आया और हजरतगंज कोतवाली में एफआईआर दर्ज की गई।

हाल की कुछ घटनाओं से योगी सरकार बेहद तेजी से एक्शन के मूड में है। कानपुर के बिकरू कांड के बाद लैब टेक्नीशियन की अपरहण व हत्या तथा गाजियाबाद में पत्रकार की हत्या के मामलों से सीएम योगी आदित्यनाथ बेहद नाराज हैं। कानपुर जैसी कार्रवाई  यूपी में और भी जगहों पर हो सकती है।

कानपुर कांड के मुख्य आरोपी विकास दुबे एनकाउंटर केस में उत्तर प्रदेश सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दायर कर दिया है। यूपी सरकार ने एनकाउंटर को सही बताया और कहा कि इसे किसी भी तरह फर्जी एनकाउंटर नहीं कहा जा सकता।

कानपुर कांड के मुख्य आरोपी विकास दुबे के एनकाउंटर में मार गिराए जाने के बाद अब उत्‍तर प्रदेश के अपराधी बेहद खौफ में दिख रहे हैं। उनके खौफ का आलम यह है कि अपराधी अब पुलिस की गाड़ी में भी बैठने से डर रहे हैं।

फरीदाबाद में विकास दुबे पुलिस के हाथ आते-आते बच गया। सीसीटीवी फुटेज में दिख रहा है कि कैसे पुलिस के आने से पहले वह एक ऑटो में सवार होकर भाग गया।

भड़काऊ बयानों के आरोपी डॉ कफील खान पर योगी सरकार ने रासुका लगा दी है। कफील खान गोरखपुर मेडिकल कॉलेज गैस कांड में भी आरोपी हैं। नागरिकता कानून को लेकर जारी विरोध प्रदर्शन में भड़काऊ भाषण देने के आरोप में डॉक्टर कफ़ील पहले से मथुरा जेल में बन्द हैं।

इसी कड़ी में यूपी पुलिस ने पिछले 24 घंटों में राज्य के विभिन्न जिलों से पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) के दस और सदस्यों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने मुजफ्फरनगर, मेरठ, बहराइच, हापुड़ और शामली से 10 और पीएफआई के सदस्यों को गिरफ्तार किया है। प्रदेश में अब तक पीएफआई के 40 सदस्यों को गिरफ्तार किया गया है।