Uttar Pradesh Police

कानपुर कांड के मुख्य आरोपी विकास दुबे के एनकाउंटर में मार गिराए जाने के बाद अब उत्‍तर प्रदेश के अपराधी बेहद खौफ में दिख रहे हैं। उनके खौफ का आलम यह है कि अपराधी अब पुलिस की गाड़ी में भी बैठने से डर रहे हैं।

फरीदाबाद में विकास दुबे पुलिस के हाथ आते-आते बच गया। सीसीटीवी फुटेज में दिख रहा है कि कैसे पुलिस के आने से पहले वह एक ऑटो में सवार होकर भाग गया।

भड़काऊ बयानों के आरोपी डॉ कफील खान पर योगी सरकार ने रासुका लगा दी है। कफील खान गोरखपुर मेडिकल कॉलेज गैस कांड में भी आरोपी हैं। नागरिकता कानून को लेकर जारी विरोध प्रदर्शन में भड़काऊ भाषण देने के आरोप में डॉक्टर कफ़ील पहले से मथुरा जेल में बन्द हैं।

इसी कड़ी में यूपी पुलिस ने पिछले 24 घंटों में राज्य के विभिन्न जिलों से पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) के दस और सदस्यों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने मुजफ्फरनगर, मेरठ, बहराइच, हापुड़ और शामली से 10 और पीएफआई के सदस्यों को गिरफ्तार किया है। प्रदेश में अब तक पीएफआई के 40 सदस्यों को गिरफ्तार किया गया है। 

लखनऊ पुलिस कमिश्नर ने विश्व हिंदू महासभा के अन्तर्राष्ट्रीय अध्यक्ष रणजीत बच्चन की हत्या से जुड़े एक संदिग्ध का फोटो जारी किया है।

अपनों से बिछुड़ने का गम वही समझ सकता है जिसने, जीवन में कभी विछोह का दुख भोगा हो। इस गणतंत्र दिवस पर जब हर हिंदुस्तानी 'सारे जहां से अच्छा हिंदुस्तां हमारा' गा रहा होगा। ठीक उसी वक्त एक वह बेरहम घड़ी भी आने वाली है, जब उत्तर प्रदेश पुलिस के सिपाही से लेकर पुलिस महानिदेशक तक की आंख नम हो आई होगी।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा शनिवार की शाम को गिरफ्तार पूर्व आईपीएस एसआर दारापुरी के घर जा रही थीं। रास्ते में पुलिस ने उन्हें धारा 144 लगे होने के कारण जाने से रोक दिया।

योगी सरकार ने अब लखनऊ के बलवाइयों पर गाज गिराना शुरू कर दिया है। लखनऊ में सार्वजनिक संपत्ति का नुकसान करने वालों की पहचान कर ली गई है। उन्हें नोटिस जारी किए जा रहे हैं। इसी तरह की कार्यवाही मुजफ्फरनगर में भी की गई थी।

यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार का लक्ष्य प्रधानमंत्री मोदी के सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास के आह्वान पर आगे बढ़ने का है।

शनिवार को असलहों से लैस दारोगा पवन मिश्रा और आशीष तिवारी ने सिपाही प्रदीप तथा मुखबिर मधुकर समेत सात लोगों के साथ ओमेक्स रेजीडेंसी में कोयला व्यवसायी अंकित अग्रहरि के फ्लैट में करोड़ों की ब्लैकमनी के लिए छापामारी कर डकैती की वारदात को अंजाम दिया।