Varanasi

Uttar Pradesh: वाराणसी (Varanasi) का नाम सुनते ही सबसे पहले यहां की बनारसी साड़ी (Banarasi Sari) जेहन में आती है, शायद कम ही लोगों को बनारसी मोतियों (Banarasi glass beads) के बारे में पता हो जो कमजोर कांच से तो बनती है, लेकिन विदेशो में अपनी चमक से लोगों को चकाचौंध किये है। बात कांच की मोतियों की जाये तो बनारस का नाम सबसे पहले आता है क्योंकि बनारस अब सिल्क की साङियों से ही नहीं बल्कि कांच की मोतियों से भी जाना जाता है।

Uttar Pradesh: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) सीआईआई कृषि और खाद्य तकनीक समारोह 2020 तथा भारत अंतरराष्ट्रीय कृषि सप्ताह का शुभारंभ कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि भगवान बुद्ध के काल से ख्यातिलब्ध कालानमक धान (Kalanamak Paddy), यूं तो सिद्धार्थ नगर जनपद के लिए ओडीओपी योजना में सम्मिलित है, लेकिन इसे जियोग्राफिकल इंडिकेशन (जीआई) पूर्वांचल के 11 जिलों के लिए प्राप्त है। ऐसे में कालानमक धान की संभावना बढ़ जाती है।

Varanasi News : वाराणसी विकास प्राधिकरण(VDA) ने मौजूदा दौर में इन तंग गलियों के संकरापन को दूर करने के कार्य जिम्मा लिया है। तंग होने के चलते यातायात समेत कुछ दिक्कतें भी इन गलियों में महसूस होती हैं।

First Woman Rafale fighter Pilot: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के संसदीय क्षेत्र वाराणसी (Varanasi) में एक और कीर्तिमान जुड़ गया। फाइटर विमान राफेल के स्क्वाड्रन गोल्डन एरो में पहली महिला फ्लाइट लेफ्टिनेंट वाराणसी की शिवांगी सिंह (Shivangi Singh) शामिल हुई हैं।

Ganga Water: गंगाजल(Gangajal) का इस्तेमाल करने वालों में पाया गया है कि अगर नियमित गंगा स्नान और गंगाजल का किसी न किसी रूप में सेवन हो रहा है तो 90 फीसदी लोगों पर कोरोना(Corona) संक्रमण का असर नहीं है।

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के वाराणसी (Varanasi) में लोकसभा चुनाव के समय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के प्रस्तावक रहे डोम राजा जगदीश चौधरी (Dom Raja Jagdish Chaudhary) का मंगलवार की सुबह निधन हो गया।

सोशल मीडिया (Social Media) पर एक तस्वीर वायरल (Viral Image) हो रही थी जिसमें सड़क पर गड्ढा देखा जा सकता है। इस तस्वीर को लेकर दावा किया जा रहा था कि ये वाराणसी (Varanasi) की है। लेकिन न्यूजरूम पोस्ट की पड़ताल से ये पता चला कि ये दावा बिलकुल गलत है।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) की 15 अगस्त से होने वाली वार्षिक बैठक में हिस्सा लेने के लिए सर कार्यवाह सुरेश भैय्याजी जोशी, सहकार्यवाह डॉ. कृष्णगोपाल और सह सरकार्यवाहक दत्रात्रेय होसबोले शुक्रवार की देर रात वाराणसी (Varanasi) पहुंचे।

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जिला स्तर पर कोविड-19 की उपचार व्यवस्था को सुदृढ़ करने के लिए इस धनराशि का व्यय जिलाधिकारी, मुख्य विकास अधिकारी तथा मुख्य चिकित्सा अधिकारी की कमेटी की संस्तुति पर किया जाए।

मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ यूपी में विकास कार्यों को लेकर सुपर एक्टिव हैं। वे लगातार विकास की समीक्षा कर रहे हैं। कल से अब तक के 4 जिलों का दौरा कर चुके हैं।