Vijay rupani

शुक्रवार को, सूरत नगर निगम ने वायरस के प्रसार को रोकने के लिए प्रभावित इलाकों में पान दुकानों को भी बंद रखने का आदेश दिया है। सूरत में अब तक कोविड-19 के 5,461 मामले सामने आए हैं जिनमें से 198 की मौत हो गई है।

भारत में कोरोना संक्रमित सार्वाधिक मामले दिल्ली, महाराष्ट्र, तमिलनाडु और गुजरात में देखने को मिले। लेकिन अब गुजरात सरकार की सकारात्मक पहल की वजह से वहां स्थिति धीरे-धीरे सामान्य हो रही है।

हर साल की तरह इस बार भी भगवान जगन्नाथ की ऐतिहासिक रथयात्रा निकाली जा रही है, लेकिन कड़ी शर्तो के साथ। इस यात्रा में सुप्रीम कोर्ट के बताए गए सारे निर्देशों का पालन करना होगा।

सोमवार को पुरी में होने वाली प्राचीन भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा को आयोजित करने के लिए सुप्रीम कोर्ट ने शर्त के साथ इजाजत दी है। SC के इस फैसले के बाद गुजरात के मुख्‍यमंत्री विजय रुपाणी ने कहा कि गुजरात सरकार ने अहमदाबाद में भगवान जगन्‍नाथ की यात्रा को अनुमति देने के लिए गुजरात हाईकोर्ट में एक याचिका दायर करने का फैसला किया है।

इन वक्त देश कोरोना संकट से जूझ रहा है। लेकिन इस दौरान कई तरह के राजनीतिक और वैचारिक मतभेद भी दिख रहे हैं। इस महासंकट के दौरान ही बंगाल और गुजरात के इतिहास को लेकर दो अलग-अलग क्षेत्रों को दिग्गजों के बीच ट्विटर पर बहस छिड़ गई है।

कोरोना महामारी से निपटने के लिए गुजरात में अब सरकार ने राज्य व्यापी अभियान छेड़ दिया है। इस अभियान को 'मैं भी कोरोना वॉरियर' के शीर्षक के साथ शुरू किया गया है।

कोरोना से लड़ाई में गुजरात उपलब्धियों के नए कीर्तिमान बना रहा है। गुजरात में कोरोना के मरीज़ बेहद तेज गति से ठीक हो रहे हैं।

गुजरात के सीएम विजय रूपाणी ने खुद को होम क्वारेंटाइन कर लिया है। अब वो अगले एक हफ्ते तक किसी से मुलाकात नहीं करेंगे।

डॉक्टरों का ऐसा कहना है कि क्योंकि कांग्रेस विधायक बिना मास्क लगाए ही मुख्यमंत्री विजय रुपाणी से मिलने पहुंचे थे और वे पहले से ही कोरोना संक्रमित थे।

लॉकडाउन के दौरान पूरा देश मानो ठहर सा गया है जो जहां है वहीं रूका हुआ है। लोग अपनों से दूर हैं तो उनके लिए परेशानी और ज्यादा बड़ी है।