Vishwa Hindu Parishad

काफी सालों से चली आ रही अयोध्या मामले को लेकर बड़ी खबर यह है कि, सुप्रीम कोर्ट 9 नवंबर को अपना फैसला सुना सकता है। सभी को इतंजार था कि, कब अयोध्या मामले को लेकर फैसला आएगा।

अयोध्या में भूमि विवाद मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले से पहले राममंदिर के लिए पत्थर तराशने के रूके काम पर विश्व हिंदू परिषद (विहिप) ने सफाई दी है। विहिप का कहना है कि पत्थर तराशी का काम अनवरत चलने वाला है।

अयोध्या में राममंदिर पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लेकर विश्व हिन्दू परिषद (विहिप) भी सतर्कता बरत रहा है। निर्णय आने से पहले विहिप ने इस पर अनर्गल बयानबाजी करने पर पाबंदी लगा दी हैं, जिससे माहौल न खराब हो सके। सूत्रों की मानें तो राममंदिर फैसले को लेकर आरएसएस बहुज ज्यादा संजीदा है।

विहिप के प्रवक्ता शरद शर्मा ने बताया, "हमारा संगठन सदैव अनुशासन में रहता है। मंदिर मुद्दे के निर्णय पर खासकर सतर्कता बरती जा रही है। कई लोग अनर्गल बयानबाजी करते है। परिस्थितियां देखकर ही बयान देना चाहिए।"

नई दिल्ली। अयोध्या में राम मंदिर बनाने के लिए साधु-संत सहित आरएसएस सरकार पर लगातार दबाव बना रहे हैं। इसी...

नई दिल्ली। राम मंदिर मुद्दे पर लगातार केंद्र की भाजपा सरकार पर हमलावर अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद के संस्थापक प्रवीण तोगड़िया...